माफियाओं पर नकेल कसने दी सख्त हिदायत

लंबित आवेदनों की समीक्षा के लिए वैठक आयोजित

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @विदिशा रविकांत उपाध्याय/ 

               कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने आज लंबित आवेदनों की समीक्षा के दौरान जिले में नकली खाद विक्रय के प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए दर्ज हुई एफआईआर की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की है। उन्होंने जिले में विभिन्न प्रकार के माफियाओं पर नकेल कसने के सख्त हिदायत संबंधित विभागों के अधिकारियों को देते हुए उनसे कहा कि मुझे अन्य स़़्त्रोतो से सूचनाएं प्राप्त होने से पहले विभाग का अमला कार्यवाही कर चुका हो ऐसी कार्यप्रणाली स्पष्ट रूप से वर्किंग कल्चर में परलिक्षित होना चाहिए। उन्होंने आबकारी, खनिज विभाग के अधिकारियों से कहा है कि गहन निरीक्षण अभियान सतत जारी रहें। जिले में कही भी अवैध मदिरा का क्रय विक्रय व भण्डारण कदापि ना हो। इसके लिए सूचना तंत्रों के माध्यम से जीवंत सम्पर्क बनाए रखें। इसी प्रकार जिले में अवैध खनिज का कही भी उत्खनन व परिवहन ना हो ऐसी कार्यवाही के लिए विभागीय सूत्रो के अलावा अन्य सूत्रों से जानकारी प्राप्त करें।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले को विभिन्न कंपनियों से प्राप्त यूरिया की आपूर्ति हेतु रेक के माध्यम  से प्रदाय खादो का वितरण समान अनुपातिक हो। बिना पौष मशीन के किसी भी कृषक अथवा अन्य को खाद का वितरण ना किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के निजी विक्रेताओं को उपलब्ध कराए जाने वाले तीस प्रतिशत खाद में  भी उपरोक्त कार्यवाही क्रियान्वित की जाए। यदि किसी निजी विक्रेता के द्वारा इस कार्यवाही में कोताही बरती जाती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही प्रस्तावित की जाए।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए जिले में किए जाने वाले प्रबंधो का भी जायजा लिया। खासकर उपार्जन केन्द्रों पर धान परिवहन हेतु आवश्यक वारदानो की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान बताया कि जिले में तीन हजार बैग उपलब्ध है।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले में विभिन्न प्रकार के खाद की मांग, पूर्ति, भण्डारण इत्यादि के लिए किए गए प्रबंधो के आंकडे सहित समुचित जानकारी से हर रोज अवगत कराने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए है। बैठक में एनआरएलएम के जिला प्रबंधक ने बताया कि आजीविका मिशन के तहत गठित महिला स्व-सहायता समूहों को 25 करोड ऋण वितरण के विरूद्व अब तक 20 करोड़ 54 लाख का ऋण वितरण किया जा चुका है शेष प्रकरण बैंको में स्वीकृति उपरांत विततरण की कार्यवाही क्रियान्वित है।

               नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में आगामी कलेक्टर्स, कमिश्नर्स कांफ्रेंस का पालन प्रतिवेदन के संबंध में गहन चर्चा की गई। इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, अपर कलेक्टर वृदांवन सिंह, सहायक कलेक्टर अनिल कुमार राठौर, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।