VIDISHA के श्रीहरि वृद्धाश्रम को मिला ISO certificate

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में स्थित श्री हरि वृद्ध आश्रम को आज उच्च गुणवत्ता पूर्ण प्रबंधन “आई एस ओ “प्रमाण पत्र मिला,  16 साल पुराने श्रीहरि वृद्ध आश्रम को अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आदर्श संस्थान के रूप में मिली मान्यता

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ विदिशा रमाकांत उपाध्याय/ 

प्रदेश में पहली बार विदिशा के श्री हरि वृद्धाश्रम में अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आदर्श संस्थान के रूप में मान्यता देते हुए उच्च गुणवत्ता पूर्ण प्रबंधन “आईएसओ” 9001, 2015 का प्रमाण पत्र दिया गया है। सादा समारोह में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व नपा अध्यक्ष मुकेश टंडन, विशेष अतिथि मनोज पांडे , समाज सेवी राकेश शर्मा, कार्यक्रम के अध्यक्ष अतुल शाह, आश्रम की अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा शर्मा , संचालक वेद प्रकाश शर्मा , विष्णु नामदेव, शशि सिलाकारी को संयुक्त रूप से भोपाल ग्लोबल सर्टिफिकेशन से आए आईएसओ संस्थान के डायरेक्टर सिंधु भूषण कुमार, ऑडिटर विजय कुमार ने प्रमाण पत्र दिया।

उल्लेखनीय है कि सन 2005 में  वेद प्रकाश शर्मा और श्रीमति इंदिरा शर्मा ने किराए के छोटे से स्थान से वृद्ध आश्रम की शुरुआत की थी। समय के साथ लगातार मेहनत और निजी खर्चे से अथक परिश्रम परिवार की जिम्मेदारिया निभाते हुए बुज़ुर्गों की देखभाल की।

शुरुआती अवस्था मे घोर आर्थिक संकट और समाज की उपेक्षा के दौर मे श्रीमती इंद्रिरा शर्मा ने अपने 7 साल का वेतन आश्रम के विकास के लिए खर्च किए। बाद में शासन द्वारा राजीव नगर क्षेत्र में एक 5000 वर्ग फिट क्षेत्र का एक शासकीय स्थान आवंटित किया और वर्तमान समय में पुरानी जिला अस्पताल में वृद्धाश्रम संचालित हो रहा है।
वर्तमान समय में लगभग 46 निराश्रित निर्धन ओर बेसहारा बुजुर्ग यहां अपनों से बिछड़ कर बहुत ही सुख और चैन से रह रहे हैं।
करीब 6 महीने पहले आईएसओ प्रमाण पत्र के लिए आश्रम की ओर से आवेदन दिया गया था। पांच बार आश्रम का समिति के सदस्यों ने घण्टो तक बारीकी से निरीक्षण,और ऑडिट किया। आश्रम की अत्याधुनिक व्यवस्थाएं बेहतरीन साफ सफाई, बेहतरीन न्यूट्रिशन, उत्कृष्ट चिकित्सा व्यवस्था, रिकार्डसमेन्टेन के साथ बुजुर्गों के स्वस्थ खिलखिलाते चेहरों से संतुष्ट होकर सिंधु भूषण कुमार ने स्टाफ के सदस्यों से चर्चा करने के साथ यहां रह रहे बुजुर्गों से भी चर्चा की।

इस अवसर पर पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश टंडन ने कहा कि वे वृद्ध आश्रम से लंबे समय से जुड़े हैं अक्सर तीज त्योहारों पर आश्रम के बुजुर्गों के बीच आशीर्वाद लेने आते हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से संस्थान के सदस्य बुजुर्गों की सेवा कर रहे हैं वह सम्मान के पात्र हैं यह प्रमाण पत्र उनकी सजीव मेहनत का परिणाम है। विदिशा सेवा की नगरी रही है। वृद्धाश्रम में सेवा का उल्लेखनीय कार्य कोरोना काल मे भी देखने को मिला।कोरोना काल मे जहां एक परिवार के पांच सदस्य भी नही हो पा रहे थे वहीं आश्रम में एक छत के नीचे 40 बुज़ुर्गों को सुरक्षित करने में आश्रम संचालक इंदिरा शर्मा और श्री वेद प्रकाश शर्मा ,सहित उनकी पूरी टीम का परिश्रम एक उल्लेखनीय कार्य है, आने वाले समय मे वृद्ध आश्रम देश का श्रेष्ठ सेवा संस्था होगा इसकी मदद हेतु शासन प्रशासन स्तर से हर मदद करने के प्रयास किये जायेगे।
मुक्ति धाम सेवा समिति के सचिव मनोज पांडे ने कहा कि जो प्रत्यक्ष दिखता है उसे किसी के सहारे की जरूरत नहीं होती। आईएसओ प्रमाण पत्र मिलना श्रीहरि वृद्ध आश्रम के संस्थापक सदस्यों की मेहनत का परिणाम है। मैं उन्हें बहुत बधाई देता हूं। ,उंन्होने कहा कि ऐसे सेवा संस्थान में दान करने से हमारा परलोक सुधरता है। वरिष्ठ समाजसेवी उद्योगपति राकेश शर्मा ने कहा कि सामान्यता तो वृद्धाश्रम होना ही नहीं चाहिए। लेकिन जिस प्रकार से बुजुर्गों को उनके ही अपने बेसहारा छोड़ देते उनका सहारा ऐसे आश्रम बनते हैं। उन्होंने कहा इस आश्रम में बुजुर्गों को सिर्फ खाने-पीने और रहने की सुविधा नहीं है बल्कि उन्हें यहां घर जैसा वातावरण मिलता है। वेद प्रकाश शर्मा इंद्रिरा शर्मा उन्हें उनके बच्चों की तरह ही रखते और उनकी देखभाल करते हैं यह प्रमाण पत्र उनकी मेहनत का नतीजा है। कार्यक्रम के अध्यक्ष अतुल शाह ने आश्रम के शुरुआती संघर्ष को बताते हुए की सेवा का यह कार्य बहुत चुनोती भरा है। हर चुनोती को हराने में श्रीमती इंदिरा और वेद शर्मा ने पूरी जिम्मेदारी का परिचय दिया है, वे आश्रम के शुरू से मददगार रहे है।
ग्लोबल सर्टिफिकेशन की ओर से आई एस ओ प्रमाण पत्र देने आए सिंधु भूषण सिंह ने कहा कि ये संस्था प्रदेश की एक बेहतर सेवा संस्था है ,,,जिसने ज़मीनी तोर से मेहनत शुरू करके आज आसमानों को छुआ है ,प्रदेश का प्रथम आई एस ओ प्रमाण पत्र देकर उनका संस्थान भी गौरव का अनुभव कर रहा है। इस प्रमाणीकरण में क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम के साथ बुजुर्गो के हेल्थ एंड सेफ्टी मैनेजमेंट सिस्टम को भी जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि आश्रम भवन बारिश का पानी आने के कारण सीबेज होने की समस्या है, इमरजेंसी चिकित्सा सेवा हेतु चार पहिया न होने , सोलर ऊर्जा संयंत्र न होने जैसे कमियां है जिसे दूर करने की आवश्यकता है।

इस अवसर पर डाक्टर शैलेन्द्र कटारिया, डॉ सचिन गर्ग, डॉ ऐश्वर्य मोदी, डॉ राजेश बंसल, डॉ रुपाली जैन, डॉ जनार्दन सिंह जादौन , डॉ शांतिलाल पीतलिया, अनेक डॉक्टर्स, लायन्स क्लब, रोटरी क्लब के सदस्य , टीम मुक्तिधाम पदाधिकारी, अनाज तिलहन संघ के अध्यक्ष राधेशयाम माहेश्वरी , लायन राजकुमार सर्राफ , के इन शर्मा उपस्थित रहे । आश्रम एडवाइजरी बोर्ड के विशेष सदस्य चन्द्र मोहन अग्रवाल ने कार्यक्रम का संचालन किया।