सात जिलों के करीब साढे़ सात हजार से अधिक अतिथि आएंगे

आगंतुक सहयोगियों के लिए तमाम व्यवस्थाएं पुख्ता-कलेक्टर

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ विदिशा रमाकांत उपाध्याय/  

               बिरसा मुण्डा जयंती पर भोपाल के जम्बूरी मैदान में 15 नवम्बर को आयेजित होने वाले जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में शामिल होने वाले सहयोगियों के लिए विदिशा जिले में भी पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। 

               कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने आज पुनः तैयारियों की समीक्षा की। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, जिपं सीईओ डॉ योगेश भरसट, अपर कलेक्टर वृदांवन सिंह, सहायक कलेक्टर अनिल कुमार राठौर, विदिशा एसडीएम गोपाल सिंह वर्मा, ग्यारसपुर एसडीएम बृजेन्द्र रावत के अलावा समस्त नोडल अधिकारी, तथा व्यवस्थाओं के क्रियान्वयन हेतु नियुक्त अन्य अधिकारी मौजूद रहें।

               गौरतलब हो कि विदिशा जिले में रीवा, छतरपुर, टीकमगढ, पन्ना, निवाडी, सतना, दमोह जिले के सहभागी रात्रि विश्राम करेंगे। उक्त जिलो से आने वाले सहभागियों के लिए किए जाने वाले प्रबंधो की पुनः समीक्षा आज कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा की गई थी। प्रत्येक आवासीय स्थल पर किए जाने वाले प्रबंधो के तहत पेयजल, निस्तारी जल, स्वच्छता, वस्त्र, खान-पान, चिकित्सा व्यवस्था, बिजली आपूर्ति, स्थायी-अस्थायी शौचालय के अलावा बाल्टी, मग्गा, साबुन, मंजन इत्यादि के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने प्रत्येक आवासीय स्थल के लिए तैनात किए गए अधिकारी, कर्मचारियों के साथ-साथ नोडल अधिकारियों से संवाद किया है। उन्होंने कहा कि जनजातीय गौरव दिवस आयोजन कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले अतिथिगण जिले में प्रदाय की गई सुविधाओं को याद रखें उन्हें किसी भी प्रकार की असुविधा होती है तो पूरे जिले का नाम बदनाम होता है। अतः संयुक्त समन्वय स्थापित कर आगंतुकों की व्यवस्थाओं का पूरा-पूरा ध्यान रखा जाए।

               पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला ने 14 एवं 15 नवम्बर को यातायात प्रबंधो के संबंध में लिए गए निर्णयों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि आवासीय स्थलों पर किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटित ना हो यह हम सबका नैतिक दायित्व है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से नियत स्थलों पर पुलिस तैनात रहेंगी इसके अलावा आवासीय परिसर में भी पुलिस के प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे है। उन्होंने शहर के अन्दर नियत किए गए आवासीय स्थलों तक पहुंचने के उपरांत बसो की पार्किग इसके पश्चात् दूसरे दिन रवानगी के लिए निर्धारित रूटचार्ट के संबंध में गहन विचार विमर्श कर निर्धारित किया गया है।

               अपर कलेक्टर वृदांवन सिंह ने बताया कि विदिशा जिले में रूकने वाले सातो जिलो के हितग्राहियों की व्यवस्थाओ के तहत जिलेवार कम्यूनिकेशन प्लान तैयार किया है जिसका नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर स्तर के अधिकारियों को जबावदेंही सौंपी गई है। विदिशा शहर की सीमा में प्रवेश करने के पहले मिर्जापुर तिराहा पर बडा पंडाल लगेगा जिसमें प्रत्येक आवासीय स्थल तक बस पहुंचाने के लिए नाम दर्ज कर्मचारी उपस्थित रहेंगे जो संबंधित जिले की बस आते है उसमें सवार होकर विदिशा शहर के किस स्थल पर ठहराने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है वहां तक पहुंचाएगा। अन्य जिलो से आने वाले सहभागियों के लिए भोजन व्यवस्था के तहत जिलेवार भोजन कहां तैयार होगा और किस वेण्डर के द्वारा भोजन आवासीय स्थल तक पहुंचाया जाएगा। भोजन तैयार होने से पहले खाद्य सामग्री, सब्जियां सहित अन्य की गुणवत्ता का परीक्षण सुनिश्चित कराने हेतु अधिकारियों को जबावदेंही सौंपी गई है। विभिन्न स्थलो पर सांकेतिक चिन्हों का प्रदर्शन फ्लेक्सो के माध्यम से किया जाएगा। प्रत्येक आवासीय केन्द्र पर एक सुपरवाइजर के साथ जो स्वच्छताकर्मी दोनो दिन तैनात रहेंगे। किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर कंट्रोल रूम को सूचित किया जा सकेगा। उन्होंने एसडीएम के दायित्व, जनपद सीईओ के दायित्व, निकाय अधिकारियों के दायित्व के अलावा पुलिस अधिकारियों से अपेक्षाएं, चिकित्सा व्यवस्था प्रबंधन इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी है।

               अपर कलेक्टर वृदांवन सिंह ने बताया कि विदिशा जिले के पांच हजार सहभागी भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। शमशाबाद और सिरोंज से रवाना होने वाली बसे बैरसिया होकर जम्बूरी मैदान पहुंचेगी, शेष अन्य विकासखण्ड, कुरवाई, बासौदा, विदिशा से रवाना होने वाली बसे बांया रायसेन होते हुए कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेगी।

               उपरोक्त बैठक में नोडल अधिकारियों के द्वारा आवासीय केन्द्र के भ्रमण उपरांत परलिक्षित कमिंयो से अवगत कराया गया है जिसमें मुख्य रूप से अस्थायी शौचालयों का निर्माण प्रमुख है। उपरोक्त कार्य के सम्पादन हेतु जिन अधिकारियों को दायित्व सौंपा गया है उन्होंने अवगत कराया कि आज दोपहर तक उन स्थलों पर अस्थायी शौचालयों का निर्माण कार्य पूर्ण कराया जा चुका है।