आदिम जाति कल्याण विभाग के कार्यो में तेजी लाने के दिए निर्देश

कलेक्टर भार्गव ने जिले के छात्रवास अधीक्षकों व जनपद सीईओ की संयुक्त वैठक लेकर की कार्यो की समीक्षा

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @विदिशा रमाकांत उपाध्याय/

कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने शनिवार को जिले के समस्त छात्रावास अधीक्षकों एवं जनपदो के सीईओ की संयुक्त बैठक आयोजित कर उन्हें आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से संपादित किए जाने वाले कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए है। उन्होंने समस्त छात्रावासो में विद्यार्थियों के आने से पहले तमाम बुनियादी सुविधाओं व स्वच्छता संबंधी कार्यो को पूरा कराए जाने के निर्देश अधीक्षकों को दिए है।


कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि विद्यार्थियों को छात्रावासो में घर जैसा माहौल मिले इसके लिए सभी छात्रावास अधीक्षक लोकल गार्जियन, अभिभावक की भूमिका में नजर आएं। बच्चों से जीवंत सम्पर्क बनाए रखें ताकि वे अपनी छोटी-छोटी समस्या में अधीक्षकों से शेयर कर सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि कन्या छात्रावास भवनो में सुरक्षा के तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं, इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही कदापि बरती ना जाए।
कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि अनुसूचित जाति, वर्ग के विद्यार्थियों हेतु संचालित सभी छात्रावासों में पेयजल हेतु आरो सिस्टम, अनिवार्यतः लगवाया जाए साथ ही बिजली की आपूर्ति सतत बनी रहें। बच्चों को छात्रावास में अच्छा माहौल मिले इसके लिए मरम्मत संबंधी कार्य पहले कराए जाए। उन्हें स्वच्छ शौचालय व परिसर के लिए आवश्यक प्रबंध कराए जाएं। बच्चों को प्रदाय किए जाने वाले बिस्तर साफ व साफ सुथरे हो। उन्हें चादर वगैराह नए प्रदाय किए जाएं। 
कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि छात्रावास संचालन के पहले विद्यार्थियों को खाद्य पदार्थो की आपूर्ति के संबंध में समुचित सावधानियां बरती जाएं। उन्होंने कहा कि पुराना भण्डारित खाद्य सामग्री का उपयोग कदापि ना किया जाए। खाना बनाते समय स्वच्छता का विशेष ध्यान दिया जाए। कलेक्टर द्वारा प्रत्येक छात्रावास, उपलब्ध संसाधनो की जानकारियां प्राप्त की गई ऐसे छात्रावास जहां आरो नही है उन छात्रावासों में जनसहयोग से शीघ्रतिशीघ्र आरो सिस्टम की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी से उन्होंने आश्वस्त कराया है।
जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बैठक के दौरान समस्त जनपदो के सीईओ को निर्देश दिए है कि जो दायित्व सौंपा गया है उसका क्रियान्वयन कर शीघ्र अवगत कराएं। उन्होंने समय अंतराल पर छात्रावासो का औचक निरीक्षण करते रहने पर बल दिया है वहीं छात्रावासों अधीक्षको से उन्होंने कहा कि व्यवस्थाओं के क्रियान्वयन में यदि कही दिक्कत आती है तो अविलम्ब जानकारी में लाएं। ताकि उसकी पूर्ति शीघ्रतिशीघ्र कराई जा सकें। प्रत्येक छात्रावास में बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति शत प्रतिशत बनी रहें इसके लिए आवश्यतानुसार वैकल्पिक व्यवस्थाओं का भी चिन्हांकन किया जाए। उन्होंने पानी, बिजली की सतत आपूर्ति के साथ-साथ समय अंतराल पर स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी छात्रावासी विद्यार्थियों के लिए आयोजित किए जाएं। उपरोक्त कार्यो के लिए जनपदो के सीईओ को भी आवश्यक जबावदेंही सौंपी गई है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई ।

उक्त बैठक में आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक नरेन्द्र अवस्थी, मण्डल संयोजक विनोद भौंसले के अलावा समस्त जनपदो के सीईओ तथा छात्रावासो के अधीक्षक मौजूद रहें।

 

जाति प्रमाण पत्रों के अभाव में राहत प्रकरण लंबित ना रहें

कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने आज आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं व कार्यक्रमो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले में अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के उत्पीडन संबंधी प्रकरण अधिक संख्या में लंबित है इन वर्गो के पीडितो को जाति प्रमाण पत्र के अभाव में राहत राशि से लंबित ना रखा जाए।

                कलेक्टर श्री भार्गव ने सब डिवीजनलवार सूची उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए संबंधित एसडीएम से पत्राचार कर जाति प्रमाण पत्रों का निराकरण शीघ्रतिशीघ्र कराया जाना सुनिश्चित हो ततसंबंध में कलेक्टर की तरफ से अर्द्धशासकीय पत्र तैयार कराकर प्रेषित कराने के निर्देश आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक को दिए है।

                कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि वनाधिकार अधिनियम के तहत जिन हितग्राहियों को एकल व सामूहिक दावो के तहत पट्टे वितरित किए जाने है। उपरोक्त कार्य संबंधित समिति के माध्यम से शीघ्र यथाशीघ्र पूरा कराया जाए। ऐसे दावे जो निरस्त किए जाने है उनमें कारणो सहित उल्लेख कर निरस्ती की कार्यवाही संपादित की जाए। बैठक में बताया गया कि जिले में 13 हजार हितग्राहियों को पट्टे प्रदाय किए जा चुके है। इन हितग्राहियों में से शासन की अन्य येजनाओं का लाभ 570 हितग्राहियों को प्रदाय किया गया हैं इस वर्ष 117 पट्टे स्वीकृत किए गए है जिसमें से पोर्टल पर मात्र बीस पट्टे ही अंकित किए गए है। ततसंबंधी कार्यो के लिए जबावदेंही पंचायत सचिवो से अविलम्ब कार्य संपादित कराने के निर्देश दिए गए हैं

                बैठक में बस्ती विकास योजना के तहत कराए गए कार्यो जिसमें मुख्य रूप से बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति पर आधारित कार्यो के प्रकरण शीघ्रतिशीघ्र कराए जाने के निर्देश दिए हैं कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि बस्ती विकास योजना के तहत जिले के ऐेसे मजरे टोले जहां पचास प्रतिशत से अधिक आबादी अनुसूचित जाति वर्ग की है उन मजरे टोलो में भी बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कराई जाए। इसके अलावा इन वर्गो के हितग्राहियों को जिन-जिन योजनाओं का लाभ दिलाया जाना है यह कार्य भी समयावधि में पूरा किया जाए।