Vidisha रोजगार दिवस कार्यक्रम में जिले के हजारों हितग्राहियों को बांटे करोड़ो की राशि के स्वीकृति पत्र

4660 प्रकरणों में 53 करोड़ 95 लाख 15 हजार राशि के स्वीकृति पत्र वितरित 

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ विदिशा मध्यप्रदेश रविकांत उपाध्याय / 8085883358

रोजगार दिवस कार्यक्रम का आयोजन आज बुधवार को एसएटीआई कॉलेज के कैलाश सत्यार्थी सभागार में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य मुकेश टंडन, डॉ राकेश जादौन, सुरेंद्रसिंह चौहान, दिनेश कुशवाह व अन्य जनप्रतिनिधियों के अलावा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, डिप्टी कलेक्टर श्रीमति अमृता गर्ग सहित अन्य की उपस्थिति में मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित करने के उपरांत कन्या पूजन कर किया। 

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लाइव उद्बोधन के देखने व सुनने की व्यवस्था भी की गई थी। जिसे कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, अधिकारी, कर्मचारियों के अलावा योजना से लाभांवित हितग्राहियों एवं गणमान्य नागरिकों के द्वारा देखा व सुना गया।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर अब जिलों में भी उपलब्ध कराए जा रहे है। ऐसे युवाजन स्वंय का रोजगार स्थापित करना चाहते है उन्हें विभिन्न योजनाओं के माध्यम से वित्त पोषण की कार्यवाही की जा रही है साथ ही शासन ऐसे युवाओं का योजनाओं के माध्यम से अनुदान भी मुहैया करा रहा है।विधायक श्रीमती जैन ने कहा कि स्वरोजगार परक कार्यक्रमों में महिलाएं पिछडें ना इसके लिए मुख्यमंत्री जी द्वारा महिलाओं को विशेष सहूलियते दी जा रही है। उन्होंने आजीविका मिशन के माध्यम से स्वसहायता समूहों के गठन और समूहों के उत्पाद से होने वाली आमदनी को भी रेखांकित किया। विधायक श्रीमती जैन ने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल के दौरान भी महिलाओं को घर बैठे रोजगार देने के प्रबंध मुख्यमंत्री जी द्वारा किए गए थे। समूहों की महिलाओं द्वारा मास्क और सेनेटाइजरों का निर्माण किया गया है जो संकटकाल के दौरान उनकी आर्थिक आमदनी में सहायक हुआ है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यवसाय छोटा बडा नही होता है हम सब मेहनत कर उसे यह रूप देते है। उन्होंने युवाजनों और महिलाओं के उज्जवल भविष्य की कामनाएं करते हुए कहा कि जो रोजगार ओर संसाधन यहां प्राप्त हुए है उससे हम अपनी जीविका ही नहीं अपने क्षेत्र की ख्याति की वृद्धि में बदलें।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य मुकेश टंडन ने कहा कि मुख्यमंत्री जी प्रदेश के युवाओं को रोजगार से जोड़ने हेतु कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। हर माह रोजगार दिवस मनाया जा रहा है और युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे है। इन रोजगार मेलो में निजी कंपनियों की भी सहभागिता होने से कंपनियों के विभिन्न पदों पर युवाओं का चयन हो रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं से आव्हान किया कि वे योजनाओं का लाभ लेने के बाद अपनी मेहनत और परिश्रम के बलबूते अपने उद्योग को आगे बढ़ाने पर बल दें। उन्होंने बड़े-बड़े उद्योगपतियों का उदाहरण देते हुए युवाओं को प्रोत्साहित किया।

4660 प्रकरणों में 53 करोड़ 95 लाख 15 हजार राशि के स्वीकृति पत्र वितरित

आज मंगलवार को रोजगार दिवस कार्यक्रम के अवसर पर एसएटीआई कॉलेज के कैलाश सत्यार्थी सभागार में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित स्वरोजगार योजनाओं में हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के महाप्रबंधक पीडी वंशकार ने मेले की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि जिले का यह तीसरा स्वरोजगार मेला है इस मेले में कुल 4660 प्रकरणों में हितग्राहियों को 53 करोड़ 95 लाख 15 हजार रूपए राशि की सामग्री व स्वीकृति पत्र प्रदाय किए गए है जिसमें 3474 प्रकरणों में 24 करोड पांच लाख 66 हजार राशि के ऋण वितरण वहीं 1186 प्रकरणों में 29 करोड़ 89 लाख 49 हजार राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए है।

रोजगार मेला स्थल पर जिन प्रकरणों में ऋण वितरण की कार्यवाही हितग्राहियों को की गई है उनमें जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र एवं खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत 38 प्रकरणों में 167.55 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना अंतर्गत सात प्रकरणों में 37.63 लाख रुपये की राशि तथा एमएसएमई प्रोत्साहन योजना अंतर्गत 13 प्रकरणों में 179.15 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित ग्रामीण पथकर विक्रेता योजना अंतर्गत 576 प्रकरणों में 57.60 लाख तथा क्रेडिट लिंकेज (एसएचजी) योजना अंतर्गत 112 प्रकरणों में 122 लाख रुपये की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

शहरी विकास अभिकरण द्वारा पीएम स्वनिधि योजना (दस हजार) अंतर्गत 89 प्रकरणों में 8.90 लाख, पीएम स्वनिधि योजना बीस हजार अंतर्गत 52 प्रकरणों में 10.40 लाख, स्वरोजगार योजना अंतर्गत 15 प्रकरणों में 26.70 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

मत्स्य पालन विभाग द्वारा पीएमएमएसवाई योजना अंतर्गत 40 प्रकरणों में 150 लाख, फिश केसीसी योजना अंतर्गत 102 प्रकरणों में 33.58 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

पशुपालन विभाग एवं डेयरी विभाग द्वारा राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना अंतर्गत एक प्रकरण में 98.91 लाख तथा पशुपालन केसीसी योजना अंतर्गत 500 प्रकरणों में 90 लाख रु की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

उद्यानिकी विभाग द्वारा पीएम सूक्ष्म खाद्य प्रोसेसिंग योजना अंतर्गत 10 प्रकरणों में स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं। इसके अलावा संस्थागत वित्त या जिला अग्रणी बैंक द्वारा मुद्रा योजना अंतर्गत 1917 प्रकरणों में 1400 लाख रुपए की राशि तथा स्टैंड अप योजना अंतर्गत 2 प्रकरणों में 23 लाख रुपए की राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं

इस प्रकार रोजगार दिवस कार्यक्रम में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं अंतर्गत कुल 3474 प्रकरणों में 2405.66 लाख रुपए की राशि का वितरण आयोजन स्थल पर किया गया है।

रोजगार मेला स्थल पर विभिन्न विभागों के द्वारा संचालित स्वरोजगार योजनाओं के तहत कुल 1186 प्रकरणों में 29 करोड 89 लाख 49 हजार रूपए के स्वीकृति पत्र भी हितग्राहियों को प्रदाय किए गए है।