Vidisha नवीन गाइड लाइन से क्राइसेस मैनेजमेंट समिति सदस्य हुए अवगत

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ विदिशा रविकांत उपाध्याय/ 

               कलेक्टर उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में शुक्रवार को जिला क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक आयोजित की गई थी। वहीं खण्ड स्तरीय समिति के सदस्यगण वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जुड़े।

               नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष तोरण सिंह दांगी, विदिशा विधायक शशांक भार्गव, शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री रूद्रप्रताप सिंह, बासौदा विधायक श्री लीना जैन तथा समिति के अन्य सदस्य मुकेश टण्डन, संदीप सिंह डोंगर, अखिलेश श्रीवास्तव के अलावा पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अनुभा जैन, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, एमएस डॉ डीडी परमहंस, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह मौजूद रहें।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने शासन स्तर से प्राप्त नवीन गाइड लाइन की सभी बिन्दुओं से समिति के सदस्यों को अवगत कराते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी द्वारा व्हीसी में दिए गए निर्देशो के अनुपालन में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक हर स्तर पर आयोजित की गई है। गाइड लाइन अनुसार जिन बिन्दुओं पर शासन स्तर से प्रतिबंध लगाया गया है के अलावा जिला स्तर पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय समिति द्वारा लिया जाता है तो उसका अनुमोदन शासन स्तर से प्राप्त कर अनिवार्य होगा।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने 15 से 18 आयु वर्ग के स्कूली बच्चों के टीकाकरण हेतु क्रियान्वित व्यवस्था पर संक्षिप्त प्रकाश डालते हुए बताया कि शासन स्तर से जिले के 94 हजार 604 बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। टीकाकरण कार्य जिले की शैक्षणिक संस्थाओं में तीन जनवरी से शुरू होगा। ततसंबंध में जिला स्तर पर माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। अभियान के तहत चिन्हित आयु वर्ग के एक भी विद्यार्थी टीकाकरण से वंचित ना रहे इसके लिए शिक्षा विभाग के साथ-साथ आमजनों और स्वंयसेवी संस्थाओं का सहयोग लिया जा रहा है।

               स्कूली बच्चों अर्थात 15 से 18 आयु वर्ग के विद्यार्थियों को सिर्फ को-वैक्सीन के ही टीके लगाए जाएंगे। ऐसा कोई बच्चा जो बीमार है उसे स्कूल की जगह सीएससी अर्थात खण्ड मुख्यालय के चिकित्सालय में टीकाकरण कार्य किया जाएगा। ताकि टीकाकरण उपरांत चिकित्सकों की निगरानी में बच्चे रह सकें। प्रत्येक विद्यार्थी को टीकाकरण के लिए आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेंजो की पूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए स्कूलों के शिक्षकों को निर्धारित फार्मेट प्रदाय किया गया है ताकि किसी भी साक्ष्य के अभाव में टीकाकरण से वंचित ना रह पाए।

               नाश्ता करके आएं

               स्कूलों में विद्यार्थियो को टीकाकरण कराने से पहले नाश्ता करके आएं का संदेश हर स्तर पर प्रचार-प्रसार करने की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश संबंधितों को जारी किए गए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि सभी स्कूली टीकाकरण केन्द्रो पर बिस्किट सहित अन्य आहार की भी व्यवस्था जन सामान्य के सहयोग से सुनिश्चित कराने का आग्रह किया गया है ताकि ऐसे बच्चे जो किन्ही कारणो से नाश्ता करके नही आ पाते है तो वे टीकाकरण केन्द्रो पर स्वल्पाहार ग्रहण करने के उपरांत ही उनके टीके लगाए जाएंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि खाली पेट किसी भी बच्चे का टीकाकरण नहीं किया जाएगा।

थर्ड डोज

               जिले के ऐसे वायोवृद्धजन जो 60 वर्ष से अधिक आयु के है और चिकित्सकों के द्वारा उन्हें थर्ड डोज का टीकाकरण कराने की अनुशंसा की जाती है तो उन सभी को गाइड लाइन के अनुसार दस जनवरी से टीकाकरण का कार्य शुरू होगा।

टेस्ट

               कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि जिले में कोरोना से संबंधित सेम्पल अब हर रोज कम से कम 1500 तक का लक्ष्य प्राप्त हुआ है इसके लिए परीक्षण की संख्या स्थलों अधिक से अधिक बढाने का सुझाव दिया गया है। अब केवल आरटीपीसीआर से ही परीक्षण होगा।

समिति सदस्यों व जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में शुभांरभ

               विदिशा जिले के जिन शैक्षणिक संस्थाओं में टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जाएगा उन सभी सत्र स्थलों पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों तथा क्राइसेस मैनेजमेंट समितियों के सदस्यों को ससम्मानपूर्वक शुभांरभ कराने हेतु आमंत्रित किया जाए। इसके लिए विधायकगण सहित अन्य जनप्रतिनिधि स्वेच्छा से इस टीकाकरण सत्र पर उपस्थित होकर शुरू कराना चाहते है कि जानकारी पूर्व में प्राप्त करने के निर्देश कलेक्टर के द्वारा संबंधितो को दिए गए है।

मेला

               कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि शासन स्तर पर किसी भी आयोजन पर पूर्ण प्रबंध नही लगाया गया है। जिले के विभिन्न स्थलों पर आयोजित होने वाले मेलो के संबंध में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि मेला प्रागंण की क्षमता का पचास प्रतिशत ही उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाए। मेला स्थल पर वैक्सीनेशन सेन्टर संचालित किया जाए इसके अलावा बिना मास्क के किसी को भी मेला परिसर में प्रवेश ना दिया जाए।

               इसी प्रकार धार्मिक पूजा स्थलों पर भी भक्त, श्रद्धालुओं को बिना मास्क के प्रवेश नही दिया जाए साथ ही सोशल डिस्टेन्सिग का पालन पूर्वानुसार कराया जाना सुनिश्चित हो। उपरोक्त कार्यो में स्थानीय समिति के पदाधिकारियों से भी सहयोग अपेक्षित किया गया है।

थर्डबेव को ध्यानगत रखते हुए पूर्व तैयारियां

               कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों को थर्डबेव के मददेनजर पूर्व में की गई व्यवस्थाओं के संबंध में अवगत कराते हुए बताया कि मेडिकल कॉलेज में 404 बेड तथा आईसीयू में 100 बेड इसके अलावा जिला चिकित्सालय के आईसीयू में 25 बेड तथा 10 बेड बच्चों के लिए आरक्षित किए गए है। मेडिकल कॉलेज में कोविडग्रस्त मरीजो को भर्ती किया जाएगा। इसके पश्चात् आवश्यकता पडने पर जिला चिकित्सालय के चिन्हित वार्ड में भर्ती किया जाएगा।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने आवश्यक दवाईयां, उपकरणों के अलावा आक्सीजन आपूर्ति के लिए मेडिकल कॉलेज, जिला चिकित्सालय, बासौदा एवं सिरोंज के खण्ड चिकित्सालयो में किए गए प्रबंधो पर विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शासन से छोटे-छोटे आक्सीजन के सिलेण्डर की मांग की गई है। जिले में पूर्व तैयारियों के तहत चार हजार से अधिक मेडिसन पैकेट तैयार किए जा चुके है। इस प्रकार पूर्व के अनुभवों में जो कमियां परलिक्षित हुई है उन्हें हर स्तर पर दूर किया गया है। पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा अन्य तकनीकी स्टाफ की पूर्तियां सुनिश्चित की गई है।

जनजागरूकता,

               कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने कोरोना वायरस कोविड 19 की थर्डबेव के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जनजागरूकता कार्यो पर बल दिया है। उन्होंने बताया कि पूर्वानुसार जनजागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में एक साथ क्रियान्वयन किया जा रहा है। मास्क की उपयोगिता और सोशल डिस्टेसिंग का पालन सुनिश्चित कराने के लिए हर स्तर पर प्रबंध सुनिश्चित किए गए है।

               कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि सभी क्षेत्रों में मास्क की अनिवार्यतः सुनिश्चित की गई है। मास्क नही लगाने वालो पर पूर्वानुसार जुर्माना की वसूली कार्य दो जनवरी से शुरू हो जाएगा। प्रारंभ में यह जुर्माने की राशि 100 रूपए वसूली की रसीदे रेडक्रास सोसायटी की प्रदाय की जाएगी।