Nateran मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने हिनोतिया व गुजरखेड़ी के बाढ़ पीड़ितों से की मुलाकात, हरसंभव मदद का दिया भरोसा

बाढ़ से जिंदगी बचाने की चुनौती के बाद अब सब पीड़ितों को हर संभव मदद दी जाएगीः मुख्यंत्री श्री चौहान

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ नटेरन मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय /9893909059

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गणेश जी की स्थापना करके अपनी जनता के बीच आया हूँ और गणेश जी के बाद जनता ही भगवान है और हिनोतिया तथा गुजरखेड़ी आकर जनता की पूजा कर रहा हूं। मुख्यमंत्री बुधवार को विदिशा जिले के बाढ़ प्रभवितों से उनकी व्यथा जानने के बाद संवाद कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आप यदि परेशान हैं तो मैं चैन से कैसे बैठ सकता हूं। केवल हिनोतिया व गूजरखेड़ी ही नहीं विदिशा जिले के 1336 गांव के 27639 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं और मैं अपनी जनता को इस संकट से निकालकर ले जाऊंगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने मिट्टी के ढेर रह गए मकानों को देखा है, गृहस्थी भी डूब गई और मवेशियों के अलावा फसलें भी पूरी बर्बाद हो गई है। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के जैसे ही इन आवासों का निर्माण करवाएंगे।उन्होंने कहा कि फसलों के लिए आर बी सी 6-4 के अलावा प्रधानमंत्री फसल बीमा की राशि से भी भरपाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनके पास रहने के लिये घर ही नहीं बचा है उन्हें घर बनने तक अस्थायी आश्रय स्थलों में रखा जाएगा। जिससे वे अपने बच्चों का पालन पोषण कर सके। उन्होंने कलेक्टर से तत्काल व्यवस्था बनाने के लिए कहा है। श्री चौहान ने कहा कि गाय भैंस, बकरी आदि मवेशियों के लिए भी मुआवजा दिया जाएगा।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाढ़ से जिंदगी बचाने की चुनोती के बाद अब सब पीड़ितों को हर संभव मदद दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिंदगी पटरी पर आ जाये फिर सड़क और पुल पुलियों के काम भी किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने हिनोतिया से ही मध्यप्रदेश के सभी बाढ़ प्रभावित जिलों के प्रभावितों को आश्वस्त किया कि इस संकट और परेशानी से हर परिवार को पार निकाल कर ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि विदिशा जिले में बाढ़ से हुई क्षति के अब तक के आकलन के आधार पर तत्काल 11 करोड़ 3 लाख 15 हजार रूपये प्रभावितों के खातों में ट्रांसफर कर दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री जी के विदिशा भ्रमण के दौरान सांसद  राजबहादुरसिंह, कुरवाई विधायक हरिसिंह सप्रे, शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्रीसिंह, पूर्व मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा, विदिशा जनपद पंचायत के अध्यक्ष वीरसिंह रघुवंशी एवं अन्य जनप्रतिनिधियों के अलावा भोपाल संभाग आयुक्त गुलशन बामरा, आईजी इरशाद वली, कलेक्टर उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला के अलावा कॉपरेटिव बैंक के पूर्व अध्यक्ष श्याम सुन्दर शर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तोरणसिंह दांगी, डॉ राकेश जादौन, कैलाश रघुवंशी समेत अन्य अधिकारी, कर्मचारी ग्रामीण जन मीडियाबंधु मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री जी ने बाढ़ पीड़ितों को हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित खाईखेड़ा पंचायत के ग्राम पंचायत का गांव गजरखेड़ी में पहुंचकर पीड़ितों का ढांढस ही नहीं बंधाया बल्कि उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में उन्हें अकेला नहीं रहने दिया जाएगा। शासन प्रशासन उनकी हर संभव मदद के लिए मदद करेगा। यहां उन्होंने ग्राम के श्री लालाराम सहित अन्य के घर में पहुंचकर बाढ़ की त्रासदी का विहंगम दृश्य ही देखा बल्कि कंधों पर हाथ रखते हुए उन्हें पूर्ण आश्वस्त कराया कि प्राकृतिक आपदा की इस घड़ी में उन्हें परेशान नहीं होने दिया जाएगा। जब तक आश्रय नहीं बन जाते हैं तब तक रहने के प्रबंध सुनिश्चित कराए जाएंगे। उन्होंने पीड़ितों के अश्रुपूर्ण स्थिति पर ढांढस बंधाते हुए कहा कि मामा आ गया है अब परेशान होने की जरूरत नहीं है जैसे पहले माहौल था ठीक वैसा ही माहौल आगामी एक-दो माह में पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सबसे पहले पेयजल स्रोत साफ-सफाई के कार्य किए जाएंगे। इसके पश्चात राहत राशि का वितरण, द्वितीय फेस में निर्माण कार्य को मूर्त रूप दिया जाएगा। यहां उन्होंने ग्राम के वाह नदी पर बने स्टॉप डेम अमृता के क्षतिग्रस्त पर उसका अवलोकन ही नहीं किया बल्कि उसकी 2 फीट की दीवार से चलकर आए और बाद में यहां कहा कि इसको ठीक ही शीघ्र ही मरम्मत कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने गूजरखेड़ी गांव में पहुंचकर बाढ़ पीड़ितों की व्यथा को सुना ही नहीं बल्कि उन्हें पूर्ण आश्वस्त कराया कि जब तक उनके आवास बन नहीं जाते हैं तब तक रूकने की व्यवस्था एवं भोजन के इंतजाम कराए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गांव की आदिवासी महिला चिरोंजीबाई, रामकलि बाई से कहा कि परेशान नहीं होने दिया जाएगा। ग्राम की बालिकाओं को भी उन्होंने आश्वस्त कराया कि मामा तुम्हारे हर दुख को दूर करेगा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामों में स्वास्थ्य परीक्षण के लिए विशेष पहल की जाने की जाने पर स्टाफ का हौसला अफजाई किया और उन सब से कहा कि एक भी बाढ़ पीड़ित का बिना स्वास्थ्य परीक्षण के ना छोड़ें जहां जिस अवश्य दवा की आवश्यकता हो अविलंब उनकी पूर्ति कराई जाए। इस कार्य को मानवता के आधार पर सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा कराएं। सुरक्षा की दृष्टि से डैम की ढाई फीट की पट्टी के दोनों तरफ रस्सी व बांसों से सुरक्षा की व्यवस्था करने के साथ-साथ होमगार्ड के जवान तैनात रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मोहरसिंह मालवीय की घर पहुंचकर उनका हालचाल ही नहीं जाना बल्कि बाढ़ में बकरियां बह गईं यह जानकारी प्राप्त होने पर उन्होंने कहा शीघ्र ही राहत राशि दिलाई जाएगी जिसमें बकरा, बकरी, मुर्गा-मुर्गी, अनाज, घर गृहस्थी, कपड़ा, टीव्ही खराब हुए हैं सरकार हर मुसीबत में पीड़ितों के साथ खड़ी है सर्वे कराकर जल्द से जल्द राहत राशि पीड़ितों के बैंक खातों में जमा कराई जाएगी।