Vidisha मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा व कुरवाई में बाढ़ पीड़ितों से किया संवाद, राहत कार्यों की समीक्षा कर दिए निर्देश

बाढ़ पीड़ितों की जिंदगी दोबारा पटरी पर लाने के लिए समुचित प्रबंध किए जाएंगे- मुख्यमंत्री श्री चौहान
बाढ़ से नुकसान का सर्वे कार्य पूर्ण पारदर्शिता के साथ किया जाएगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ विदिशा कुरवाई मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय/ 9893909059

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बाढ़ और अतिवर्षा से प्रभावित प्रत्येक व्यक्ति की सरकार हर सम्भव मदद करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार का यह दायित्व है कि वह नागरिकों को इस मुसीबत से उबारकर उनकी जिंदगी दोबारा पटरी पर लाई जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंगलवार को विदिशा के नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में बाढ़ राहत कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बाढ़ से हुए नुकसान के सर्वे का कार्य पूर्ण पारदर्शिता के साथ किया जाए। उन्होंने कहा कि जिदंगियां बचाने में एवं सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने में हम सफल हुए हैं। भारतीय वायु सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस, होमगार्ड सभी ने बहुत मेहनत की है। इस कार्य में योगदान देने वालों के प्रति मुख्यमंत्री श्री चौहान ने साधुवाद व्यक्त किया है।

 

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाढ़ में बिजली व्यवस्था युद्धस्तर पर दुरुस्त करें। ट्रांसफार्मेर डूबे हुए थे, सब स्टेशनों में पानी भरा हुआ है। जिदंगी को बचाने के लिए करंट फैलने से रोकने के लिए बिजली बंद करनी पड़ी। पानी उतरने के साथ ही अब बिजली विभाग के अधिकारी बिजली की व्यवस्था सुचारू करने के लिए जुट जाएं।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बारिश बंद हो चुकी है और क्षेत्र में धीरे-धीरे पानी कम हो रहा है। प्रभावित क्षेत्रों में बीमारी न फैले इसके लिए दवा छिड़काव से लेकर साफ-सफाई में जुट जाएं। दवा वितरण एवं साफ-सफाई का काम युद्ध स्तर पर किया जाए। स्वास्थ्य विभाग मेडिकल टीम गठित कर गांव-गांव एवं शहर पहुंचकर मेडिकल चेकअप एवं दवा वितरण तीव्र गति से करें। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए।

समीक्षा बैठक में इस दौरान शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्रीसिंह, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, विदिशा विधायक शशांक भार्गव, विदिशा नगर पालिका अध्यक्ष प्रीती राकेश शर्मा ने अपने-अपने सुझावों से अवगत कराया है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने विदिशा जिले में वर्तमान हालात से अवगत कराया और प्रशासन द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी।
समीक्षा बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता कैलाश रघुवंशी, विदिशा जनपद अध्यक्ष श्री वीरसिंह रघुवंशी, डॉ राकेश जादौन के अलावा पुलिस अधीक्षक, अपर कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मोटरबोट से पहुंचकर कमर तक पानी में खड़े होकर पीड़ितों से संवाद किया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को विदिशा नगर में बाढ़ प्रभावित जतरापुरा क्षेत्र में करीब ढाई सौ घरों की बस्ती में पहुंचकर बाढ़ प्रभावित परिवारों को ढांढस बंधाया और बस्ती में पहले नाव और फिर घुटने तक पानी में पैदल पहुंचे।
जतरापुरा क्षेत्र में राजीव गांधी आवास योजना अन्तर्गत लगभग 250 आवासों की इस बस्ती में बेतवा के बैक वाटर और एक स्थानीय नाले के पानी में जलमग्न हो गई थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान को अपने बीच पाकर महिला-पुरूष और बच्चों में जैसे स्फूर्ति आ गई और उन्होंने मुख्यमंत्री से अपने मन की बात कही। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी को आश्वस्त किया कि चिंता की बात नहीं है जल्दी ही सभी को हर संभव मदद दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जिंदगी बचाना पहली प्राथमिकता थी और अब जैसे-जैसे पानी कम हो रहा है सभी मूलभूत सुविधाओं को शीघ्र दुरूस्त किया जाएगा। बच्चों का मामा कौन है मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान हैं के नारे लगा रहे बच्चों को मुख्यमंत्री ने दुलार किया। उन्होंने पीड़ित परिवारों को भोजन और अन्य सामग्री के पैकेट भी उपलब्ध कराए।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता कैलाश रघुवंशी, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, शमशाबाद विधायक राजश्रीसिंह, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती प्रीती राकेश शर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरणसिंह दांगी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश टण्डन, पूर्व जिला सहकारी केन्द्रीय मर्यादित बैंक के अध्यक्ष श्यामसुन्दर शर्मा, डॉ राकेश जादौन के अलावा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी, एनडीआरएफ की टीम सदस्य तथा गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान नाना के बाग पहुंचकर बाढ़ प्रभावितों से मिले

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान आज बुधवार की दोपहर विदिशा प्रवास पर पहुंचे। मुख्यमंत्री श्री चौहान एसएटीआई के हैलिपेड पर हैलिकॉप्टर से उतरने के उपरांत सर्वप्रथम विदिशा शहर के भगतसिंह कॉलोनी (नाना के बाग) क्षेत्र पहुंचे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यहां पहुंचकर बाढ़ प्रभावितों से संवाद किया।
मुख्यमंत्री जी के पास बाढ़ प्रभावित बुजुर्ग महिलाओं ने पहुंचकर संवाद किया और बाढ़ से हुए नुकसान व अपनी व्यथा से अवगत कराया। इसके उपरांत रोती बिलखती बुजुर्ग महिलाओं को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गले से लगाकर कहा कि में हूं ना चिंता की कोई बात नहीं है। दो तीन दिन में सब ठीक हो जाएगा।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नाना के बाग क्षेत्र में बाढ़ प्रभावितों का ढांढस बंधाते हुए कहा कि पानी उतर जाने के बाद बाढ़ से हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी को आश्वस्त कराया कि चिंता की बात नहीं है जल्द ही सभी को हर संभव मदद दी जाएगी।
इस दौरान बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, डॉ राकेश जादौन के अलावा कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी, गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

प्राकृतिक संकट में एक दूसरे का मिलकर सहयोग करें- मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री जी ने कुरवाई पहुंचकर बाढ़ पीड़ितों से किया संवाद

प्राकृतिक संकट में एक दूसरे का मिलकर सहयोग करना चाहिए, यह विपदा का समय है, जनहित के कार्यों में सबको मिलकर सहयोग करना चाहिए, जिनके मकानों, फसलों का संपत्ति का नुकसान हुआ है, उनका सर्वे कराया जाकर सरकार भरपूर मदद करेगी, उक्त आशय के विचार मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज बुधवार को कुरवाई में बाढ़ पीड़ितों से संवाद के दौरान व्यक्त किए हैं।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कुरवाई आगमन पर विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, सांसद श्री राज बहादुर सिंह ने बीना के रिफाइनरी परिसर में हेलीपैड पर पहुंचकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर बीना विधायक श्री महेश राय सहित अन्य मौजूद रहे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान को ग्राम बनडोरा, वोथी के ग्रामीणों ने ग्राम लायरा में एकत्रित होकर बाढ़ एवं अतिवृष्टि से हुए नुकसान की जानकारी दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कुरवाई नगर में बनाए गए राहत शिविर में पहुंचकर बाढ़ पीड़ितों से संवाद किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मीडियाबंधुओं से संवाद करते हुए कहा कि बाढ़ पीड़ितों की संपत्ति का नुकसान का सर्वे किया जाएगा। प्रत्येक बाढ़ पीड़ित की भरपूर मदद की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान कुरवाई के वार्ड नंबर 13 मालीपुरा होते हुए पीराखार नाला स्थित माया सिटी के के अलावा वार्ड नंबर 8, 13 और 3 के बाढ़ पीड़ितों से मिले हैं।
मुंख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रशासन से नगर के गरीबों के मकान एवं उनकी संपत्ति के नुकसान का आकलन करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री जी को ग्राम मढ़िया, मददूखेड़ी, जोनाखेड़ी, मोहनियाखेड़ी मोंदनखेड़ी, कोठा, सिरावली, भुगावली, लेटनी, बकवारा, सडेरा आदि ग्रामों के ग्रामीणों ने उनके मकान क्षतिग्रस्त होने तथा गांव में पानी भरने फसलें नष्ट होने की जानकारी दी गई है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्षेत्र में अतिवृष्टि के कारण हुए फसलों के नुकसान का सर्वे करवाकर किसानों को समुचित राहत वितरण के निर्देश दिए हैं। विधायक हरि सिंह सप्रे ने इस मौके पर बताया कि क्षेत्र में बाढ़ के कारण हुई भारी तबाही की जानकारी उनके द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान को टेलीफोन पर दी गई थी। बाढ़ पीड़ितों का दर्द बांटने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान कुरवाई पहुंचे और उनके द्वारा बाढ़ पीड़ित क्षेत्र का स्वयं भ्रमण किया गया तथा हवाई सर्वे कर बाढ़ ग्रस्त ग्रामों की स्थिति का जायजा लिया गया है।