Tyonda गायत्री परिवार ने कराया पुंसवन संस्कार, महिला मंडल गठित

गर्भवती महिलाओं को बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए अच्छे आहार के साथ जरूरी है अच्छे विचार – सुमन भदौरिया 

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ त्योंदा मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय / 9893909059

अखिल विश्व गायत्री परिवार विदिशा द्वारा त्योंदा शाखा के सहयोग से विगत दिनों त्योंदा तहसील में आओ गढ़ें संस्कार पीढ़ी अभियान के तहत गर्भवती माताओ का गर्भोत्सव संस्कार कराकर जन जागरूकता अभियान चलाया गया। इस अवसर पर महिला मंडल का गठन भी किया गया।

 

यह कार्यक्रम त्योंदा चिकित्सालय में पदस्थ सिस्टर श्रीमती कमला बरखडे, वर्षा शर्मा, रीना रॉय, पूजा ठाकुर, वरिष्ठ गायत्री परिजन महाराज सिंह पटेल त्योंदा , ज्ञान सिंह , थान सिंह कुशवाह , युवा प्रकोष्ठ जिला प्रभारी सौरव गुप्ता, पुनितराम , श्रीमती प्रमिला कोरी एवं श्रीमती रश्मि द्विवेदी के द्वारा संपन्न कराया गया।

गर्भवती महिलाओं को दी जरूरी जानकारियाँ

आओ गढ़े संस्कारवान पीढ़ी अभियान जिला प्रभारी श्रीमति सुमन भदौरिया जी ने बताया कि गर्भ में पल रहे शिशु के मानसिक, आध्यात्मिक एवं शारीरिक विकास के लिये गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार के साथ साथ अच्छे विचारों को श्रवण एवं ग्रहण करना चाहिए। उनके आसपास व घर का माहौल शांत और खुशहाल रहना चाहिए। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन तो सिर्फ गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य का ध्यान रखता लेकिन गर्भवती बहन जब अच्छा चिंतन अच्छी भावनाओं का विकास और स्वाध्याय करती हैं तभी पूर्ण रूप से स्वस्थ एवं सुंदर नई पीढ़ी (संतान)को जन्म देती हैं।


इसके अपने इतिहास में हजारो उदाहरण भरे पड़े हैं, भक्त प्रह्लाद शिवाजी, अभिमन्यु,लव कुश आदि।आजकल ज्यादातर डिलेवरी आपरेशन से होती हैं उनको नॉर्मल करने के लिये महिलाओं को कुछ योगा सूक्ष्म व्यायाम भी बताए गये हैं। इनको करने से सामान्य डिलेवरी हो सकती है। इसके साथ ही आदर्श दिनचर्या के फार्म भी भराये गए।