Lateri मुख्यमंत्री ने ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों का लिया जायजा

किसानों से संवाद कर दिया आश्वासन, जिन किसान भाइयों-बहनों की फसलों का 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान हुआ है, उनको 30 हजार प्रति हेक्टेयर की दर से राहत राशि दी जायेगी। फसल बीमा की 25 प्रतिशत राशि तत्काल से और 75% सर्वे के बाद में दी जायेगी।

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ लटेरी विदिशा रमाकांत उपाध्याय/ 9893909059

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा जिले की सिरोंज विधानसभा क्षेत्र के लटेरी तहसील के उनारसी कला गांव में ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कृषकों से संवाद कर उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। इस अवसर पर सिरोंज विधायक उमाकांत शर्मा, बासौदा विधायक श्रीमति लीना संजय जैन, भाजपा जिलाध्यक्ष राकेश सिंह जादौन, कलेक्टर उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक श्रीमती मोनिका शुक्ला सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण मौजूद थे।

 मुख्यमंत्री ने कहा की मेंरे किसान भाई-बहन कितनी मेहनत करते हैं, पानी नहीं अपने पसीने से खेत सींचते हैं, दिन और रात लगा देते हैं, पूरा परिवार खेती में जुट जाता है, लेकिन प्राकृतिक आपदा में फसल हाथ से चली गई, फसल खराब होने से किसान परेशान हो गये हैं। मेरे किसान भाइयों-बहनों प्राकृतिक आपदा की इस घड़ी में हम आपके साथ हैं। हम आप को इस संकट से उबार कर बाहर ले आएंगे। हर खेत का सर्वे होगा और सर्वे की पूरी सूची पंचायत भवन में चस्पा की जाएगी। जिसे आपत्ति होगी उसके खेत का फिर से सर्वे किया जायेगा।

 

मेरे जिन किसान भाइयों-बहनों की फसलों का 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान हुआ है, उनको 30 हजार प्रति हेक्टेयर की दर से राहत राशि दी जायेगी। फसल बीमा की 25 प्रतिशत राशि तत्काल से और 75% सर्वे के बाद में दी जायेगी। हर खेत में मेरा जाना सम्भव नही है पर अगर मैंने दो-चार खेत भी देखें तो समझ ले कि सारे खेतों का मैंने निरीक्षण कर लिया है ।

मैं मध्य प्रदेश के सारे किसान भाइयों से कहना चाहता हूं कि मेरे रहते हुए आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। किसान ने यदि लोन लिया होगा, तो ऋण वसूली को स्थगित कर अल्पकालीन लोन को मध्यमकालीन ऋण में बदल दिया जायेगा और इसका ब्याज भी हम भरवायेंगे।

आप सभी से अपील है कि कोरोना से बचाव का दोनों डोज अवश्य लगवा लें। 60 वर्ष से ऊपर आयु के बुजुर्गों को बूस्टर डोज भी लग रहे हैं। 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का भी टीकाकरण जारी है। मास्क का भी ध्यान रखें। कोविड एप्रोप्रियेट व्यवहार का पालन कीजिये।