Ganjbasoda भगवान राम के अवतार थे रामानंदाचार्य जी – संत हरिदास जी

धर्मांतरण के विरुद्ध जगतगुरु रामानंदाचार्य ने मार्ग प्रशस्त किया, राम नाम की महिमा से कराया अवगत

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ गंजबासौदा रविकांत उपाध्याय/9893909059


जीवाजी पुर स्थित वेदांत आश्रम में जगतगुरु रामानंदाचार्य भगवान की 722 भी जयंती मनाई गई। इस अवसर पर वेदान्त आश्रम के संत हरिदास महाराज ने कहा कि जगतगुरु रामानंदाचार्य स्वयं राम के अवतार थे। उन्होंने सभी जातियों के लोगों को भक्ति का उपदेश देकर राम नाम का प्रचार प्रसार किया। उस समय जो हिंदू को जबरन मुसलमान बनाया जा रहा था। उन्होंने मुसलमानों को अपने सिद्धांतों के द्वारा मंडित किया। उन्होंने कहा जिस प्रकार श्री राम ने समुद्र पर पुल बनाकर रावण रूपी मोह पर विजय प्राप्त की। उसी प्रकार रामानंदाचार्य ने भक्तों को राम नाम का पुल बनाकर भवसागर सेब पार जाने के लिए राम नाम का प्रचार किया।