Ganjbasoda मूल्य चित्र का नहीं, चरित्र का होता है- अंतरराष्ट्रीय संत डॉ वेदांती

सैण्ट एस आर एस पब्लिक हायर सैकण्डरी स्कूल में छात्रों को दिया मार्गदर्शन

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ गंजबासौदा रविकांत उपाध्याय/ 


जहां छात्र निस्वार्थ भाव से शिक्षा ग्रहण करते हैं वे ही देश के लिए चित्र नहीं चरित्र गढ़ते हैं। जिनकी कल्याणकारी शिक्षा हो वही परिवार में प्यार, समाज में दुलार, देश का उद्धार और विश्व का समुद्धार करते हैं। मैंने छात्र जीवन में ही स्वामी विवेकानंद को अपना आदर्श मान लिया था, इस कारण सन्यास के बाद भी निरंतर शिक्षा को ग्रहण करता रहा। स्वार्थ रहित शिक्षा ग्रहण ही महान बना सकती है।


यह बात अन्तर्राष्ट्रीय संत द्वारा चार्य डाॅ रामकमल दास वेदांती जी द्वारा स्थानीय सैण्ट एस आर एस पब्लिक हायर सैकण्डरी स्कूल में छात्रों को आशीर्वाद देते हुए कही। उन्होंने बताया कि सैण्ट एस आर एस पब्लिक हायर सैकण्डरी स्कूल द्वारा देश के लिए उत्तम गुणवत्तायुक्त फसल तैयार की जा रही है। उन्होंने विद्यार्थी का अर्थ बताते हुए छात्रों को बताया कि विद्या को ग्रहण करने की आकांक्षा रखने वाला ही विद्यार्थी होता है।


वेद भाषा संस्कृत का महत्व समझाते हुए कहा कि उन्होंने अमेरिका सहित अन्य यूरोपीय देशों में संस्कृत को महत्व दिलाने के लिए प्राथमिकता में रखा। वहां के लोग संस्कृत को सर्वश्रेष्ठ देवभाषा मानते हैं। क्योंकि संस्कृत से ही भारतीय महाग्रंथ गीता, महाभारत और रामायण को वे समझ पाते हैं।


निर्धन विद्यार्थियों की मदद के लिए प्रतिवर्ष एक लाख देगा रामानंद ट्रस्ट
कार्यक्रम में संत वेदांती जी ने घोषणा की कि शिक्षा अति आवश्यक है, यदि संस्था में आर्थिक रूप से विपन्न छात्राएं है तो रामानंद ट्रस्ट द्वारा वर्ष में एक लाख रूपये तक शिक्षा खर्च उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने संत जगन्नाथ दास जी महाराज के आध्यात्मिक व्यक्तित्व को उल्लेखित करने हेतु निबंध प्रतियोगिता कराने एवं प्रथम पुरस्कार 2100 रूपये, द्वितीय पुरस्कार 1500 रूपये एवं तृतीय पुरस्कार 1100 देने की घोषणा की। इस मौके पर वेदांत आश्रम के महंत श्री हरिहर दास जी मौजूद रहे।

कार्यक्रम में श्री आदर्श कृष्ण शिक्षा समिति के अध्यक्ष बीएल यादव, डायरेक्टर के एस यादव, प्राचार्य उमेश चंद्र यादव, वरिष्ठ पत्रकार कैलाश सक्सैना, अशोक मंगल , संस्था से शिक्षक के पी चैहान, श्रीमती रत्ना देश पाण्डे, श्रीमती रजनी गुप्ता, डाॅ विजय कुमार जैन, डाॅ अमर सिंह ठाकुर, अनुज गुप्ता, विशाल कुशवाह, रामनारायण श्रीवास्तव, सुमन श्रीवास्तव, प्रशांत उंदवार, दीपेश मीणा, राहुल जैन, सुपार्श जैन, प्रीति माथुर, छात्र संघ बालक अध्यक्ष रूपेश मीणा, बालिका संघ अध्यक्ष अक्षदा देशपांडे ने पुष्पहारों से संत द्वय का अभिनंदन किया। संगीत मंडली में हारमोनियम कृष्णकांत बैरागी, हर्षित शर्मा, तबला पर प्रथमेश भाटे, गायन में देवांशी रघुवंशी, सौम्या तिवारी, अक्षदा देशपांडे ने सरस्वती एवं गुरू वंदना का गायन किया।

ज्ञात हो कि स्वामी वेदांती जी के जन्मोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम में राम लक्ष्मण, लवकुश, गणेश वंदना पर नृत्य एवं लवकुश की राम कथा में सहभागिता करने वाली संगीत मंडली को वेदांत आश्रम समिति द्वारा दी राशि से प्रतीक चिन्ह एवं शील्ड प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस मौके पर एनएसएस स्वयंसेवकों को भी सम्मानित किया गया। आभार संस्था अध्यक्ष बीएल यादव ने माना।