Ganjbasoda भोजनालय का शुभारंभ, 36 महिलाओं को सिलाई मशीन की भेंट

नागरिक सेवा समिति ने मानस भवन में किया आयोजन, 38वें वर्ष की भोजनालय सेवा का शुभारंभ, आत्मनिर्भरता के लिए महिलाओं को दी सिलाई मशीन

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ गंजबासौदा मध्यप्रदेश रविकांत उपाध्याय / 8085883358

नागरिक सेवा समिति द्वारा मानस भवन में भोजनालय सेवा का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राघवजी भाई पूर्व वित्त मंत्री मध्य प्रदेश शासन थे,कार्यक्रम की अध्यक्षता क्षेत्रीय विधायक श्रीमती लीना जी जैन ने की। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि अजय सिंह रघुवंशी पूर्व संसदीय सचिव मध्य प्रदेश शासन, कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रुप में श्रीमती शशि अनिल यादव प्रदेश उपाध्यक्ष महिला मोर्चा, विशेष अतिथि के रुप में डॉक्टर विमल चंद ओसवाल अध्यक्ष श्वेतांबर समाज एवं नागरिक सेवा समिति के अध्यक्ष कांती भाई शाह ने भारत माता , योगीराज कृष्ण एवं श्री राम दरबार के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन कर माल्यार्पण कर कार्यक्रम को विधिवत आरंभ किया।

भोजनालय के शुभारंभ के अवसर पर भोजनालय पर करीब 250 लोगों को खीर पुरी सब्जी खिचड़ी एवं बिस्कुट के पैकेट वितरित किए गए। गरीब महिलाओं एवं बेटियों को परिवार के लालन पालन एवं खर्चों में हाथ बंटाने 36 सिलाई मशीन पैरदान सहित भेंट की गई।

इनकी रही सहभगिता

इन सिलाई मशीनो मैं 10 मशीनें श्रीमती रीता देवी भावसार समाज सेविका, 10 मशीनें एडवोकेट श्री पदम चंद जैन कर सलाहकार, 10 मशीनें देवेंद्र वर्मा पूर्व उपाध्यक्ष खाद आपूर्ति निगम एवं 6 मशीनें शंभू दयाल शर्मा समिति के कोषाध्यक्ष सहित नागरिक सेवा समिति का विशेष सहयोग रहा है। समिति के अन्य खर्चों में हर समय श्री दमयंती धर्म कांटा सेवार्थ योगेश भाई शाह- दमयंती बेन एवं पूरे परिवार का भरपूर सहयोग समिति को मिलता है।

कार्यक्रम का संचालन नागरिक सेवा समिति के उपाध्यक्ष सुरेश कुमार तनवानी ने किया एवं सुभद्रा शर्मा कॉलेज के प्रिंसिपल इदीवर जी जैन ने सभी अतिथियों एवं उपस्थित गणमान्य नागरिकों का आभार व्यक्त किया। 

समाज सेवा क्या है ?
समाज सेवा का उद्देश्य क्या है ?
समाज सेवा किस वर्ग की की जाती है?
समाज सेवा कैसे की जाती है?

इन बिंदुओं को लेकर कॉलेज की लगभग 100 छात्राएं सेवा कार्यों को देखने के लिए कार्यक्रम में अपने प्राचार्य श्री इंदीवर जी जैन , अनुराग जैन सहित अन्य प्रोफेसर के साथ उपस्थित हुए एवं उन्होंने अतिथियों से समाज सेवा के बारे में कई बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में दिए गए विषय सामाजिक जुड़ाव एवं सेवा के अंतर्गत सामाजिक सेवा प्रकल्पो को विस्तार से जाना।

नागरिक सेवा समिति द्वारा अतिथियों का एवं सिलाई मशीनो के आयोजकों का शाल श्रीफल एवं पुष्पहारों से सम्मान किया गया।

समाजसेवी कैलाश नारायण अग्रवाल मामा जी एवं श्रीमती अंगूरी देवी अग्रवाल मामी जी ने नागरिक सेवा समिति को सहयोग के रूप में 1 लाख रुपए की राशि का चेक समिति के अध्यक्ष महोदय को भेंट किया।
एवं आगामी कार्यक्रम के लिए 10 सिलाई मशीनों के वितरण के लिए घोषणा की समिति की ओर से अतिथियों के द्वारा शाल श्रीफल एवं पुष्पा हारों से सम्मान किया गया। समाजसेवी कांति भाई शाह, रमेश भाई शाह , योगेश भाई शाह -परिवार द्वारा पूर्व में मुक्तिधाम को सवारने हेतु 5 लाख रुपए की राशि की जो घोषणा की थी उसमें से प्रथक प्रथक 4 लाख रुपए की राशि मुक्तिधाम के सदस्यों को भेंट की जा चुकी है आज गुड़ी पड़वा नव संवत्सर के पावन पर्व के अवसर पर शेष 1 लाख रूपए की राशि मुक्तिधाम के सदस्यों रोहित भावसार ,लोकेश सक्सेना, महेंद्र सिंह सूर्यवंशी एवं संतोष शर्मा को भेंट की गई ताकि मुक्तिधाम के कार्यों को आगे बढ़ाया जा सके और उसकी सौंदर्यता बढ सके। वही कैलाश नारायण अग्रवाल मामा जी ने मुक्तिधाम के निर्माण के सहयोग के लिए 51000 रुपए की राशि की घोषणा की।

उक्त कार्यक्रम में मदन मोहन तिवारी,योगेश शाह, बृज किशोर सुहाने,गोविंद नारायण खंडेलवाल ,सुरेश कुमार तनवानी , चेतना सेवा समिति के सचिव डॉ आर सी शर्मा, प्रोफेसर एस एन गोर,श्रीमती दमयंती बेन , जयेश शाह, रिटायर्ड शिक्षक संतोष शर्मा ,दयाशंकर जायसवाल, एडवोकेट मुकेश रघुवंशी, चेतन शाह, सतीश अग्रवाल एच-पी ,कोमल सुभाष शाह, विनीत अरोरा, मयंक टॉक,अशोक अग्रवाल मंकु, एडवोकेट सुरेंद्र भारद्वाज, जितेंद्र सिंह दांगी ,आर पी गुप्ता, छोटे लाल गुप्ता ,विजय भावसार, रेल विभाग से हेमंत राय,सुरेंद्र दांगी , केशव सिंह राजपूत,प्रमोद राजपूत, विनोद शाह, केयूर शाह, प्रकाश माहेश्वरी,महेंद्र सिंह ठाकुर फौजी ,राम गोपाल गुप्ता, महेंद्र सिंह सूर्यवंशी ,तुलसीराम नामदेव, प्रदीप नेमा ,राजेंद्र जैन बुक डिपो, जगदीश भावसार , तेज नारायण श्रीवास्तव ,लाल बहादुर ताम्रकार ,सुरेश ताम्रकार, श्रीकांत वर्मा, चंद्रशेखर ताम्रकार, मैंनेजर संतोष शर्मा, मैनेजर देवीलाल कुशवाह सहित समितियों के अन्य सदस्य बहुत संख्या में उपस्थित थे।