सत्य, अहिंसा और ईमानदारी के गुण सीखें : प्राचार्य जीपी भार्गव

शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय गंज बासौदा में गांधी और शास्त्री जयंती पर हुए अनेक कार्यक्रम, स्वच्छता की दिलाई शपथ, श्रमदान कर की सफाई

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @गंजबासौदा रमाकांत उपाध्याय/ 

शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय गंज बासौदा की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव एवं महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर विद्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ कर गांधी जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए प्राचार्य ज्ञानप्रकाश भार्गव ने कहां हमारे महापुरुषों के अनेक त्याग और बलिदान के बाद आज हम यहां इस खुशनुमा माहौल में है। गांधीजी का मानना था कि पहले हम उस काम को खुद छोड़ें ,उस बुराई को खुद छोड़ें, जो हम अन्य लोगों को छोड़ने के लिए कहते हैं। गांधी जी सभी को समानता के भाव से देखते थे।गांधी जी के जीवन से सत्य, अहिंसा एवं ईमानदारी के गुणों को हमें आत्मसात करना चाहिए। प्राचार्य द्वारा सभी को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई
नपा स्वास्थ्य अधिकारी आरके नेमा ने कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग मनुष्य ,जानवरों और समुद्री जीवो के लिए बहुत हानिकारक है। प्लास्टिक को पचाया नहीं जा सकता है, और इससे गंभीर समस्याएं उत्पन्न होती हैं। प्लास्टिक पर्यावरण प्रदूषण के प्रमुख कारणों में से एक है। ऐसा प्लास्टिक जिसका उपयोग हम केवल एक ही बार करते हैं, सिंगल यूज प्लास्टिक कहलाते हैं ।साधारण भाषा में हम लोग इसे डिस्पोजेबल प्लास्टिक कहते हैं। इसमें प्लास्टिक की थैलियां, पॉलिथीन, स्ट्रॉ, प्लास्टिक के गिलास, सोडा और पानी की बोतल और खाद्य पैकेजिंग आइटम आदि शामिल है। जलवायु परिवर्तन के परिणाम स्वरूप ,बिगड़ता पर्यावरण सबसे बड़ी चिंता का विषय है। ऐसे में प्लास्टिक से पैदा होने वाले प्रदूषण को रोकना बहुत बड़ी चुनौती है। सिंगल यूज प्लास्टिक मिट्टी में नहीं घुलता, मिलता है, इसलिए सिंगल यूज़ प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने के लिए सभी को जागरूक करना आवश्यक है। कचरा देते समय सावधानी रखना चाहिए ,उन्होंने नीले, हरे, काले और पीले रंग के डस्टबिन का अलग-अलग उपयोग समझाया। कचरा प्रबंधन करने के लिए खाद एक आसान और प्राकृतिक प्रक्रिया है, इसमें पेड़, पौधों और रसोई जैसे जैविक कचरे का प्रबंध किया जाता है।

स्वयंसेवकों द्वारा स्वच्छ भारत पर पोस्टर बनाए गए एवं विजेताओं को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। विद्यालय परिसर में साफ सफाई कर श्रमदान किया गया।

स्वयंसेवक हीतेंद्र राजपूत ने गांधी जी के प्रिय भजन रघुपति राघव राजा राम की सुंदर प्रस्तुति दी

इस अवसर पर शिक्षक  प्रदीप चौरसिया,  प्रशांत श्रीवास्तव,  सचिन खापरें उपस्थित रहे, कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम अधिकारी  दिनेश ओझा द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में स्वयंसेवक अजय विश्वकर्मा, सचिन अहिरवार, लोकेंद्र कुशवाह, देवांशु सोनी ,विशाल चढ़ार ,डालचंद अहिरवार ,कुमारी नंदनी दांगी ,कुमारी आयुषी , कुमारी ईशा जैन का विशेष योगदान रहा।