Ganjbasoda विजयादशमी पर ब्राह्मण समाज ने की शस्त्र व शास्त्र की पूजन, आदिकाल से ही चली आ रही है पूजन की परम्परा

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @गंजबासौदा मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय / 9893909059

 विजयादशमी के उपलक्ष्य में ब्राह्मण दल के तत्वावधान में बेहलोट स्थित श्रीराम जानकी मंदिर में शस्त्र व शास्त्र पूजन कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें ब्राह्मण समाज ने शामिल होकर वैदिक विधि विधान से शास्त्र व शस्त्र का पूजन किया। 

इस अवसर पर ब्राह्मण समाज के वरिष्ठ मार्गदर्शक रिटायर्ड सब इंस्पेक्टर वेद प्रकाश मिश्रा ने कहा कि आदिकाल से ही शास्त्र और शस्त्र का विधिवत पूजन का विधान है। और धर्म नीति, सद मार्ग और धर्म संगत आचरण का पाठ पढ़ाने के लिए विप्र सदैव अग्रणी रहा है।

विप्र सबके हित और सब के सुख की कामना करता है। लेकिन जब आतताई अनाचार और अधर्म का मार्ग दिखाकर सभी वर्गों का अहित करता है तो ऐसे अनाचार ऐसे सबक सिखाने के लिए शस्त्र की भाषा सिखाना पड़ती है।

इस मौके पर संतोष शर्मा ने कहा कि ब्राह्मण का धर्म चारों वर्णों को शिक्षित करना और धर्म का मार्ग बताना है। आज वह इसी भावना के साथ सभी के कल्याण में भागीदार है।

श्रीकृष्ण तिवारी ने कहा वर्तमान में हम जिन लोगों के कल्याण की भावना रखते हैं। आज अपने स्वार्थ की खातिर विधर्मी लोग समाज को बांटने में लगे हुए हैं। जबकि हमारा उद्देश्य सर्व समाज को समाज के कल्याण और चिंतन का है।

समाज के सुरेंद्र भारद्वाज, प्रमोद शर्मा , बलराम महाराज, भूपेंद्र शर्मा, अमित पाराशर, ध्यानु मिश्रा सहित अनेक लोगों ने भी अपने विचार व्यक्त किए शास्त्रों सहित शास्त्रों का विधिवत पूजन किया। 

 

कार्यक्रम मेंअनेक विप्रबर मौजूद थे।