गृहणी में हुए खूनी संघर्ष में 7 घायल, 5 गंभीर रेफर

रास्ते से निकलने के 5 साल पुराने विवाद को लेकर दो पक्षो में झगड़ा, दोनों पक्ष के 7 घायल

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ गंजबासौदा रविकांत उपाध्याय/ 

गंजबासौदा सिटी थानांतर्गत ग्राम गृहणी में शुक्रवार को रास्ते से निकलने के पुराने विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। इस खूनी संघर्ष में दोनों पक्ष के 7 लोग घायल हुए जिनमें से 5 गंभीर घायलों को जिला अस्पताल विदिशा रेफर किया गया है। 

जानकारी के अनुसार शुक्रवार दोपहर 12 बजे गांव गृहणी निवासी 65 वर्षीय मुन्नालाल  अपने बेटे  संग्राम सिंह  व लेखराज  के साथ अपने खेत से बोवनी करके घर आ रहे थे। तभी पुरानी रंजिश के चलते रास्ते पर से निकलने के विवाद को लेकर दूसरे पक्ष से झगड़ा हो गया। गांव के ही शंभू सिंह , कमललाल और मां रामश्री सहित परिवार के अन्य सदस्यों ने तीनों के साथ मारपीट करना शुरु कर दी। परिजनों को बचाने के लिए छोटा भाई सुरेंद्र  व भाभी संगीता भी मौके पर पहुंच गए, लेकिन दूसरे पक्ष के लोगों ने इन सभी को जबरदस्ती अपने घर में बंद कर मारपीट करना शुरु कर दी। विवाद की सूचना मिलते ही अंबानगर चौकी से पुलिस गांव पहुंची और घर के दरवाजे खुलवाकर मामले को शांत किया। दोनों पक्षों मे मुन्नालाल, संग्राम सिंह, लेखराज, सुरेंद्र सिंह और शंभू  को गंभीर चोटों के कारण जिला अस्पताल रेफर किया गया। जबकि संगीता राजपूत व रामश्री अहिरवार गंजबासौदा अस्पताल में भर्ती हैं।

घायलों के परिजनों ने अस्पताल में समय पर उपचार नही मिलने के आरोप लगाए हैं उनका कहना है कि 30 मिनिट तक कोई डॉक्टर नही था जिससे घायलों का खून निकलता रहा। जबकि प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ रविन्द्र चिढार का कहना है कि इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक अन्य मरीज को देख रहे थे इसलिए थोड़ा समय लग गया। अस्पताल में छुट्टी होने के कारण सिर्फ इमरजेंसी डॉक्टर ही अस्पताल में मौजूद थे। बाद में इमरजेंसी देखते हुए 4 डॉक्टर और आ गए थे।

इस संबंध में गंजबासौदा सिटी थाना प्रभारी सुमि देसाई का कहना है कि दोनों पक्ष के लोग घायल हुए हैं, दोनों पक्षों की शिकायत भी मिली है इसलिए दोनों तरफ से ही केस दर्ज किया जाएगा। गिरफ्तारी भी की जा रही हैं।