Ganjbasoda सजा लो द्वार, आ रहे जगत के पालनहार

GANJBASODA madhya pradesh RAMAKANT UPADHYAY 9893909059

घटेरा, सिरनोटा गुरु आश्रम पर संतों ने की अगवानी
श्रीमहंत ने कहा, यात्रा का नहीं अपने भगवान श्री जगन्नाथ जी का करें भव्य स्वागत 

                  भगवान जगन्नाथ के आगमन की मंगल बेला आज बुधवार को पूरी होने जा रही है जिसके इंतजार में उनके भक्त महीनों से आस लगाए बैठे हुए थे। सफर भी 1200 किलोमीटर का था और दिन भी 40। तो फिर देर लगना लाजमी है। यात्रा के दौरान अपने भक्तों से मिलने भगवान जगन्नाथ जितने व्याकुल नजर आए उससे कहीं ज्यादा थे उनके भक्त दिखे। जिले की सीमा में भगवान जगन्नाथ का आगमन होते ही नगर से सैकड़ों की संख्या में भक्त अपने भगवान से मिलने पहुंच गए। रथ यात्रा में पहले दिन से ही साथ चल रहे 40 पद यात्रियों का यह काफिला नगर में आते-आते हजारों में पहुंच गया।

सोमवार को घटेरा में गुरुगादी स्थान पर रात्रि विश्राम के बाद सिरनोटा पहुंची रथ यात्रा का भव्य स्वागत सत्कार किया गया। मंगलवार को रात्रि विश्राम ककरावदा में हुआ जो कि बुधवार को नगर के लिए प्रस्थान करेगी। रथ यात्रा का समापन स्टेशन रोड़ नौलखी मंदिर पर होगा जहां प्राण प्रतिष्ठा के पहले तक दर्शन देने भगवान जगन्नाथ विराजमान रहेंगे।


मालूम हो कि जगन्नाथ पुरी, उड़ीसा से छत्तीसगढ़ के दुर्गम जंगलों को पार करते हुए 1200 किलोमीटर की पैदल यात्रा पूर्ण करके जगन्नाथ महाप्रभु के नवीन विग्रह बुधवार 17 जनवरी को नगर में प्रवेश करेंगे। उनके साथ पूरी यात्रा में साथ चल रहा 40 पैदल यात्रियों का जत्था भी रहेगा जिनकी अगवानी एवं स्वागत को लेकर नगर में दिन भर तैयारी चलती रहीं। नगर के विभिन्न धार्मिक, व्यापारिक, कर्मचारी संगठन,राजनीतिक और सामाजिक संगठनों के स्वागत द्वार, बंधनवार के अलावा जिन-जिन रास्तों से महाप्रभुजी का काफिला गुजरेगा उन जगहों पर भव्य स्वागत के साथ ऐतिहासिक अगवानी की तैयारी है। अनेक समाज संगठनों के द्वारा भी रास्तों में जगन्नाथ के भात की प्रसादी बांटने की तैयारी चल रही हैं। भगवान जगदीश स्वामी की रथ यात्रा के घटेरा पहुंचने पर गुरुगादी के महंत, सिरनोटा में गुरु आश्रम के महंत,नूरपुर धाम के महंत और मूड़रीधाम के महंत सहित नगर की अनेक जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक शामिल रहे।

नौलखी खालसा के श्रीमहंत राम मनोहरदास जी महाराज ने सभी महंतों की अगवानी करते हुए उनका स्वागत किया। श्रीमहंत ने कहा कि यह हमारा परम सौभाग्य है कि भगवान जगन्नाथपुरी से चलकर हमारे नगर में आ रहे हैं इसलिए यात्रा का नहीं अपने भगवान का भव्य स्वागत करें।


इन मार्गों से होकर गुजरेगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा
महाप्रभु की भव्य शोभायात्रा 17 तारीख की प्रातः 10 बजे लाल पठार, ओवर ब्रिज से यात्रा, नगर में प्रवेश करेगी। जो एक विशाल शोभा यात्रा का रूप लेकर, त्योंदा रोड़ होते हुए जय स्तंभ चौक से बरेठ रोड भावसार पुलिया पहुंचेगी, तत्पश्चात महाराणा प्रताप चौक से तिरंगा बाईपास होते हुए तिरंगा चौक, सिरोंज चौराहा, लोहा मिल रोड, राजेंद्र नगर चौराहा, गांधी चौक, सदर बाजार, सावरकर चौक, जय स्तंभ चौक, स्टेशन रोड़ एवं मिल रोड़ से भ्रमण करती हुई स्टेशन रोड़ नौलखी मंदिर पहुंचेगी जहां यात्रा का समापन होगा। इस दौरान शोभायात्रा के साथ अनेक साधु संत, संकीर्तन मंडलियां, महिला भजन मंडली एवं नगर के गणमान्य नागरिक और भक्त शामिल रहेंगे।


*संगठन करेंगे भव्य स्वागत और बाटेंगे जगन्नाथ का भात*
नगर में रथ यात्रा के आगमन पर व्यापार महासंघ, अनाज तिलहन एवं व्यापारी संघ, किराना व्यापार संघ, हार्डवेयर एवं मशीनरी संघ, फुटवियर एसोसिएशन सहित ब्राह्मण समाज, राजपूत समाज, विश्वकर्मा समाज, सेन समाज, खत्री समाज, अरोरा समाज, मीणा समाज, नेमा समाज, रघुवंश युवा परिषद, अहिरवार समाज, यादव समाज, साहू समाज, अग्रवाल समाज, ब्राह्मण दल, महाकाल युवा संगठन, विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल, राजनैतिक संगठन, अन्नपूर्णा सेवा समिति सहित अनेक सामाजिक संगठनों ने जगह-जगह शोभायात्रा के स्वागत सहित भात एवं प्रसादी के भंडारे आयोजित करने जिम्मेदारी ली है। राजपूत समाज द्वारा यात्रा में साथ चल रहे 40 पद यात्रियों का साफा बांधकर अभिनंदन सम्मान किया जाएगा।

यह जानकारी वरिष्ठ पत्रकार समाजसेवी देवेंद्र रघुवंशी द्वारा दी गई।