Vidisha गायत्री परिवार द्वारा आयोजित भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा में जिले के 10 हजार विद्यार्थी हुए शामिल

VIDISHA madhya pradesh RAMAKANT UPADHYAY 9893909059

अखिल विश्व गायत्री परिवार शान्तिकुंज के तत्वावधान में जिले के सरकारी व निजी स्कूल कॉलेज में भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन किया गया।

भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा की जिला संयोजिका रश्मि पोरवाल ने बताया कि कक्षा 5 से 12 तक के करीब 10 हजार से अधिक विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए हैं। 200 महाविद्यालयीन छात्रों ने भी परीक्षा में भागीदारी की। विदिशा ब्लॉक में साढ़े 4 हजार, गंजबासौदा ब्लॉक में 2200 से अधिक ने परीक्षा में भागीदारी की। गायत्री परिजन व स्कूल कॉलेज संचालकों सहित शिक्षक शिक्षिकाओं ने भरपूर सहयोग दिया। परीक्षा के बाद तहसील, जिला व राज्य स्तर की प्रावीण्य सूचियाँ बनेगी। प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान के विद्यार्थियों को पुरष्कृत किया जाएगा।

भारतीय संस्कृति से परिचित कराने होती है परीक्षा

अखिल विश्व गायत्री परिवार के जिला समन्वयक मुकेश तिवारी ने बताया कि बच्चों में व्यक्तिगत, पारिवारिक, सामाजिक, राष्ट्रीय मूल्यों की स्थापना, विद्यार्थियों का चिंतन, चरित्र, व्यवहार भारतीय संस्कृति के अनुरूप कर जीवन जीने की कला सिखाने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष यह परीक्षा आयोजित की जाती है।


जिला सह समन्वयक व राजीव नगर शक्तिपीठ के मुख्य ट्रस्टी श्रीराम कटियार ने बताया कि अन्य सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। गंजबासौदा प्रज्ञापीठ ट्रस्टी एडवोकेट श्यामसुंदर माथुर ने बताया कि नैतिक मूल्यों के विकास के लिए सभी अभिभावकों को इस परीक्षा में अवश्य शामिल करना चाहिए। स्वर्णकार कॉलोनी स्थित प्रज्ञापीठ के मुख्य ट्रस्टी राजाराम पवार ने बताया कि परीक्षा के लिए अभिभावकों व बच्चों में खासा उत्साह देखा गया।

इनका रहा सक्रिय सहयोग
जिला संयोजिका रश्मि पोरवाल ने बताया कि परीक्षा में सक्रिय रूप से जिला सह समन्वयक व राजीव नगर शक्तिपीठ के मुख्य ट्रस्टी श्रीराम कटियार, उपमुख्य ट्रस्टी सुमन भदौरिया, पूर्व जिला समन्वयक मुकेश श्रीवास्तव, मुकेश आजाद, लक्ष्मण मीणा, हरीश बिजवे, मनीष श्रीवास्तव, थानसिंह कुशवाह, गंजबासौदा से संस्कृति ज्ञान परीक्षा तहसील प्रभारी एसके सैनी, राकेश पांडे, लटेरी से बृजेन्द्र रघुवंशी, मनमोहन विश्वकर्मा, कुरबाई राजीव शर्मा, त्योंदा महाराज सिंह पटेल,ज्ञान सिंह, ग्यारसपुर से डॉक्टर राजकुमार मालवीय सहित अन्य परिजनों का सक्रिय सहयोग रहा।