New delhi देश-विदेश में मकर संक्रांति पर 75 लाख करेंगे सूर्य नमस्कार

केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोणोवाल और केंद्रीय राज्य मंत्री आयुष मुंजपरा महेंद्रभाई ने आयुष भवन में अहम बैठक कर आयुष मंत्रालय के महत्वपूर्ण अभियानों पर मंथन भी किया

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ नई दिल्ली रविकांत उपाध्याय/ 


मकर संक्रांति के पर्व को और अधिक खास बनाने के लिए आयुष मंत्रालय ने इस बार बड़ी तैयारी की है। केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बताया कि 14 जनवरी यानि मकर संक्रांति के दिन 75 लाख लोग एक साथ सूर्य नमस्कार करेंगे, जिसमें देश-विदेश के लोग भी शामिल होंगे। इस अभियान में विभिन्न मंत्रालयों के साथ-साथ योग एवं सामाजिक क्षेत्र की बड़ी संस्थाओं का सहयोग लिया जा रहा है।

सोणोवाल ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आम लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत बनाना बहुत जरूरी है, इसके लिए अधिक से अधिक लोगों को सूर्य नमस्कार करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं में लाभ पाया जा सकता है।

सोणोवाल ने कहा कि हम सिर्फ सूर्य नमस्कार ही नहीं बल्कि योगासन, आयुर्वेद, होम्योपैथी, सिद्ध, नेचुरोपैथी और यूनानी आदि के माध्यम से आम लोगों की स्वास्थ्य देखभाल कर रहे हैं। इस दौरान सोणोवाल ने आयुष मंत्रालय द्वारा हालही में जारी की गई गाइडलाइन का पालन करवाने की अपील भी की।

आयुष भवन में केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोणोवाल और केंद्रीय राज्य मंत्री आयुष मुंजपरा महेंद्रभाई ने आयुष मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की और कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आयुष अभियानों को और अधिक विस्तारित करने के निर्देश दिए।

गौरतलब है कि कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर में आयुष मंत्रालय ने राज्यों के साथ मिलकर आम लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए आयुष क्वाथ (काढ़ा), आयुष-64, कबासुरा कुडिनीर और प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य रक्षा किट और आयु रक्षा किट को तैयार किया था। जिनसे आम लोगों को बहुत फायदा हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कोविड काल में आयुष मंत्रालय के कामकाज की तारीफ की थी।

इस दौरान केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोणोवाल और केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री मुंजपरा महेंद्रभाई के साथ आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा और आयुष विशेष सचिव प्रमोद कुमार पाठक भी मौजूद रहे। बैठक के बाद सभी ने आयुष भवन की कैंटीन में आयुष आहार का स्वाद भी लिया।