हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, सीडीएस रावत उनकी पत्नी सहित 13 का निधन

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का गंभीर अवस्था मे चल रहा है उपचार, पूरे देश में शोक की लहर, हादसे की जांच की मांग

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ नई दिल्ली रमाकांत उपाध्याय/ 

बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में नीलगिरि पहाड़ियों के बीच सेना का हेलिकॉप्टर MI-17V5 दुर्घटनाग्रस्त हो गया, क्रैश होते ही इसमें आग लगने से विमान के परखच्चे उड़ गए। इस विमान में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत उनकी पत्नी मधुलिका रावत और सेना के कुछ अधिकारी समेत 14 लोग सवार थे, इनमें से 13 लोगों का निधन हो गया है जबकि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का गंभीर अवस्था मे उपचार चल रहा है। 
सीडीएस के निधन की खबर मिलते ही पूरा देश शोक की लहर में डूब गया है। भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री सहित तमाम नेताओं द्वारा शोक संवेदनाएं व्यक्त कर देश की अपूरणीय क्षति बताया जा रहा है। जबकि सोशल मीडिया पर लोग इस हादसे की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं। ताकि खुलासा हो सके यह कैसे हुआ है। कहीं कोई हमला तो नही हुआ।

 

जनरल बिपिन रावत का परिवार

जनरल बिपिन रावत ने देहरादून और शिमला में पढ़ाई पूरी करने के बाद एनडीए और आईएमए देहरादून से सेना में एंट्री ली थी. उन्होंने मेरठ यूनिवर्सिटी से मिलिट्री-मीडिया स्ट्रैटेजिक स्टडीज में पीएचडी भी की थी. बता दें कि बिपिन रावत देश के पहले चीफ आफॅ डिफेंस स्‍टाफ थे।
जनरल बिपिन रावत और मधुलिका रावत की दो बेटियां हैं जिनमें से एक का नाम कृतिका रावत है। बिपिन रावत के पिता लक्ष्मण सिंह रावत ने भारतीय सेना की सेवा की और लेफ्टिनेंट-जनरल के पद तक पहुंचे. दूसरी ओर, उनकी मां उत्तरकाशी से विधान सभा (एमएलए) के पूर्व सदस्य किशन सिंह परमार की बेटी थीं।

मधुलिका रावत ने शहीदों की पत्नियों के जीवन यापन और उनके विकास के लिए कई तरह के कार्यक्रम चलवाए। AWWA के अध्‍यक्ष के तौर पर मधुलिका रावत पर युद्ध या अन्य सैन्य ऑपरेशन के दौरान वीरगति को प्राप्‍त शहीदों की पत्नियों और आश्रितों की भलाई और सर्वागींण विकास की जिम्मेदारी थी।

देश सेवा में सदैव आगे रहा परिवार

सीडीएस बिपिन रावत एक फौजी परिवार से ही आते हैं. उनका परिवार हमेशा ही देश की सेवा के प्रति समर्पित रहा। उनके पिता लक्ष्मण सिंह रावत भी लेफ्टिनेंट जनरल के पद से रिटायर हुए थे. वहीं, पत्नी मधुलिका रावत एक गृहिणी होने के साथ-साथ समाजसेवी भी थीं. परिवार संभालने के साथ-साथ सामाजिक कार्यक्रमों में वह बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती थीं।

MP के दामाद थे बिपिन रावत

बिपिन रावत मध्य प्रदेश के दामाद थे, शहडोल जिले की सोहागपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस के पूर्व विधायक कुंवर मृगेंद्र सिंह की बेटी हैं मधुलिका रावत से उनकी शादी हुई थी। विंध्य रीवा रियासत में सोहागपुर के इलाकेदार थे कुंवर मृगेंद्र सिंह।

एमपी सीहोर के जवान की भी हादसे में मौत

इस घटना में एमपी का एक लाल भी शहीद हो गया। जनरल बिपिन रावत की सुरक्षा में तैनात एमपी सीहोर जिले से आने वाले जवान जितेंद्र कुमार की भी मौत हो गई. उनकी मौत की खबर सुनते ही उनके गांव में भी शोक की लहर छा गई।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी जितेंद्र कुमार के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

CDS की सुरक्षा में तैनात थे जितेंद्र कुमार
बताया जा रहा कि सीहोर के धामंदा गांव के निवासी सेना के जवान जितेंद्र कुमार सीडीएस जनरल बिपिन रावत की सुरक्षा में तैनात थे। जितेंद्र बिपिन रावत के पीएसओ थे, घटना के वक्त वो भी उनके साथ हेलीकॉप्टर में मौजूद थे। जितेंद्र की मौत की खबर लगते ही उनके गांव में मातम का माहौल है। जितेंद्रके पिता का नाम शिवराज वर्मा और मां का नाम धापी बाई है, उनके दो भाई व दो बहनें हैं. इसके अलावा उनकी पत्नी और एक साल का बेटा भी है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने की जांच की मांग
राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर के पास हेलीकॉप्टर दुर्घटना की जांच सुप्रीम कोर्ट के एक वरिष्ठ न्यायाधीश से कराने की मांग की। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस घटना को चौंकाने वाला और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक बड़ी चेतावनी बताया। स्वामी ने कहा कि अंतिम रिपोर्ट नहीं आई है, इसलिए मेरे लिए कुछ भी कहना बहुत मुश्किल है, लेकिन तमिलनाडु जैसे सुरक्षित क्षेत्र में एक सैन्य विमान का इस तरह से दुर्घटनागस्त हो जाना कई सवाल खड़े करता है।