अत्यंत मानवीय योजना है “संबल” – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

हर परिस्थिति में परिवारों की जिन्दगी आसान रहे और आजीविका की गाड़ी चलती रहे, यही योजना का उद्देश्य

योजना भरोसा दिलाती है कि हर मुश्किल में सरकार आपके साथ खड़ी है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 7 हजार 700 संबल हितग्राहियों को 170 करोड़ की राशि सिंगल क्लिक से की अंतरित
अमानवीय परिस्थितियों में रहने वालों के लिए आशा की किरण है
मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना

एक अप्रैल 2018 से आरंभ हुई थी मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना
संबल योजना में है अपंगता, सामान्य मृत्यु, दुर्घटना से मृत्यु और अंतिम संस्कार के लिए सहायता की व्यवस्था

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ भोपाल रमाकांत उपाध्याय/  

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संबल योजना अत्यंत मानवीय योजना है। हर परिस्थिति में परिवारों की जिन्दगी आसान रहे और परिवार की आजीविका की गाड़ी चलती रहे इसलिए संबल योजना में सहायता दी जाती है। यह योजना इस बात का भरोसा दिलाती है कि हर मुश्किल में सरकार आपके साथ खड़ी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा संबल योजना के अंतर्गत अनुग्रह सहायता राशि के 7 हजार 700 प्रकरणों में 170 करोड़ रूपए की राशि का सिंगल क्लिक के माध्यम से संबल हितग्राहियो के खातों में अंतरण किया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भगवान न करें यदि दुर्घटना में किसी का निधन हो जाए तो राज्य सरकार परिवार को 04 लाख रुपए की सहायता राशि देगी। सामान्य मृत्यु पर 02 लाख रूपए की राशि देने की व्यवस्था है। योजना में अंतिम संस्कार के लिए 05 हजार रूपए की सहायता देने की व्यवस्था है। आज सामान्य मृत्यु पर 06 हजार 900 हितग्राहियों के खातों में अनुग्रह सहायता की दो-दो लाख रूपए की राशि डाली गई है। दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना से मृत्यु के 800 प्रकरणों में 4 लाख रूपए प्रति व्यक्ति के मान से राशि जारी की गई है। इस राशि से भाई-बहनों को अपने परिवार को व्यवस्थित रूप से चलाने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जो चले गए हैं, उन्हें वापस नहीं ला सकते, लेकिन उनके चले जाने के बाद जो बेसहारा हो गए हैं, उन्हें राज्य सरकार सहारा दे सकती है। इसी भाव से यह सहायता जारी की गई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे घरों में कई परिवार रहते हैं। एक छोटे से घर में अधिक लोग समाते नहीं है, रहना कठिन होता है। इसलिए जिनके पास रहने की जगह नहीं है, ऐसे हर परिवार के लिए स्वतंत्र प्लॉट की व्यवस्था प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में की जाएगी। मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना के निर्देश जारी हो गए हैं। यह उन लोगों के लिए आशा की किरण है जो स्थान के अभाव में अमानवीय परिस्थितियों में रहने के लिए विवश है। एक जमीन का टुकड़ा अपने नाम पर हो और परिवार वहाँ रह सके, लोगों के इस सपने को यह योजना पूरा करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संबंल योजना में अब तक 01 लाख 53 हजार 935 प्रकरणों में 1306 करोड़ 86 लाख रूपए की राशि जारी की गई है। मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना 01 अप्रैल 2018 से आरंभ की गई है। योजना में संबल हितग्राही और उसके परिवार के सदस्यों को आंशिक स्थाई अपंगता पर 01 लाख और स्थाई अपंगता पर 02 लाख की सहायता प्रदान करने की भी व्यवस्था है।