Ujjain गौमाता को खिलाए 125 किलो तिली के लड्डू, विश्व कल्याण की प्रार्थना

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ उज्जैन मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय/ 9893909059 

मकर संक्रांति के पावन अवसर पर उज्जैन महाकाल नगरी में समाज सेवी सुनील जैन ने सपरिवार चिंतामन गणेश मंदिर गौशाला पहुँचकर एक सौ पच्चीस किलो तिल गुड़ से बने हुए लड्डू दान दिए। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में समाजसेवी सुनील जैन सहित पधारे अतिथिगण महाकाल मंदिर के महंत जी परम पूज्य विनीतगिरीजी महाराज, महाकाल मंदिर प्रशासक गणेश धाकड़ जी, तहसीलदार जूनवाल जी, रजत जैन, प्रदीप मिश्रा ने गौमाता का पूजन कर तिलगुड़ से बने लड्डू भोग प्रसाद गाय माता को खिला कर और विश्व कल्याण की कामना की गई। 

गौशाला में समाजसेवी सुनील जैन ने अतिथियों का रुद्राक्ष की माला पहना कर सम्मान किया।।

मकर संक्रांति का महत्व 
पंडित प्रदीप मिश्रा ने बताया कि देश भर में आज मकर संक्रांति मनाई जा रही है, ये त्योहार हर साल पौष माह की शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को मनाया जाता है। हिन्दू धर्म में इसका खास महत्व है, आज के दिन सूर्य उत्तरायण होते हैं। इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर जाते हैं।इसलिए ही इस दिन को मकर संक्रांति के नाम से जाना जाता है।सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करते ही खरमास का समापन हो जाता है। इसके बाद शुभ और मांगलिक कार्य एक बार फिर से शुरू हो जाते हैं। दान धर्म का महत्व भी अनेक गुना बढ़ जाता है।