MP शहीद जितेंद्र के परिवार को एक करोड़ की सम्मान निधि, सरकारी नौकरी – सीएम

मुख्यमंत्री ने स्व. वर्मा के गृह नगर पहुँचकर दी श्रद्धांजलि, शहीद की स्मृतियों को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए बनेगा स्मारक
गाँव के विद्यालय का नाम शहीद जितेन्द्र वर्मा के नाम पर होगा

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ सीहोर रमाकांत उपाध्याय/ 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर जिले के दिवंगत नायक जितेंद्र कुमार वर्मा के गृह ग्राम धामंदा पहुँचकर शोक संवेदनाएँ व्यक्त की और शहीद श्री वर्मा के पार्थिव शरीर को कांधा दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पार्थिव शरीर पर पुष्प-चक्र अर्पित कर शहीद के सम्मान में सेल्यूट भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान सहित जन-प्रतिनिधियों और ग्रामवासियों ने नम आँखों से शहीद जितेन्द्र को श्रद्धांजलि दी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहीद जितेन्द्र वर्मा भारत माँ के वीर सपूत थे, जो अंधेरे में भी निशाना लगाकर दुश्मन का काम तमाम करने वाले श्रेष्ठ स्नाइपर थे। सीहोर जिले सहित पूरे मध्यप्रदेश को गर्व है कि ऐसे महान वीर सेना के शौर्य के प्रतीक जनरल बिपिन रावत के साथ रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहीद जितेन्द्र वर्मा के माता-पिता और उनके परिवार को मैं प्रणाम करता हूँ। यह परिवार हम सबका परिवार है। मध्यप्रदेश की साढ़े 8 करोड़ जनता की ओर से मैं अमर शहीद श्री जितेन्द्र कुमार वर्मा के चरणों में सादर नमन करता हूँ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि तमिलनाडु में 8 दिसंबर को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सीडीएस श्री बिपिन रावत जी के साथ 13 व्यक्तियों में सीहोर जिले के श्री जितेंद्र कुमार वर्मा भी असमय मृत्यु के शिकार हुए थे। शहीद जितेन्द्र जी के परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि दी जाएगी। ग्राम के विद्यालय का नाम शहीद के नाम पर होगा। शहीद की धर्मपत्नी को शासकीय सेवा दी जाएगी। शहीद की स्मृति को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए स्मारक बनेगा। शहीद जितेंद्र के बच्चों की शिक्षा का प्रबंध भी होगा।

 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. जितेंद्र वर्मा के माता-पिता और उनकी पत्नी से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त कर ढांढस बंधाया। सीहोर जिले के प्रभारी एवं लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, सांसद  रमाकांत भार्गव, सेना के वरिष्ठ अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी और हज़ारों की संख्या में आमजन ने शहीद  जितेन्द्र वर्मा को श्रद्धांजलि दी।