टीका नहीं लगवाने की सामाजिक गैर जिम्मेदारी के हो सकते हैं घातक परिणाम -मुख्यमंत्री

वेक्सीन नहीं लगवाने वालों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करना हमारा कर्त्तव्य

कोरोना के विरूद्ध सबसे अधिक सशक्त और प्रभावी ढाल है टीकाकरण
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने“मैंने निभाई अपनी जिम्मेदारी-अब है आपकी बारी” के संदेश के साथ खिंचवाई फोटो
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सरोजनी नायडू स्कूल के टीकाकरण केन्द्र का किया अवलोकन

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ भोपाल रमाकांत उपाध्याय/ 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना के दोनों टीके लगवाना सबसे बड़ी सामाजिक जिम्मेदारी है। हम कोरोना का टीका नहीं लगवाकर अपने साथ, अपने परिजन और परिचितों की जान को भी जोखिम में डालते हैं। इस प्रकार की सामाजिक गैर जिम्मेदारी के परिणाम घातक हो सकते हैं। प्रदेश में सभी पात्र व्यक्तियों के शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य दिसंबर के अंत तक पूर्ण किया जाना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं इस लक्ष्य को पूरा करने में सभी सामाजिक एवं स्वयंसेवी संस्थाओं, मीडिया के बंधुओं और प्रत्येक व्यक्ति से सहयोग की अपील करता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज टीकाकरण महाअभियान-10 के अंतर्गत शिवाजी नगर स्थित सरोजिनी नायडू विद्यालय में संचालित टीकाकरण केंद्र का अवलोकन कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों को सतर्क करते हुए कहा कि कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। आज प्रदेश में 18 पॉजीटिव प्रकरण हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 171 है। इसके अतिरिक्त देश-दुनिया में नया वैरिएंट ओमिक्रॉन फैल रहा है। इससे बचाव के लिए सतर्कता आवश्यक है। अत: प्रदेशवासियों से निवेदन है कि मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसी सावधानियों का पालन करें। भीड़ से बचें और कोरोना के विरूद्ध सबसे अधिक सशक्त तथा प्रभावी ढाल टीकाकरण को अपनाएँ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अधिकतम टीका लगाने वाले राज्यों में मध्यप्रदेश अग्रणी है। अब तक प्रदेश के 94 प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को टीके का पहला डोज़ और 77 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज़ लगाई जा चुकी हैं। हमारा उद्देश्य दिसम्बर अंत तक प्रदेशवासियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण कर प्रदेश को संपूर्ण सुरक्षा चक्र प्रदान करना है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा नि:शुल्क टीका देने की व्यवस्था की गई है। टीका जीवन का रक्षक है, अत: सभी धर्मगुरू, जन-प्रतिनिधि, समाजसेवी, स्वयंसेवी संस्थाएँ, कोरोना वॉलेंटियर्स अपने आस-पास ऐसे प्रत्येक व्यक्ति को प्रेरित करें, जिसने अभी तक टीका नहीं लगवाया है। यह प्रत्येक व्यक्ति का कर्त्तव्य है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सरोजनी नायडू स्कूल के टीकाकरण केन्द्र से टीकाकरण रथ को हरी झंडी देकर रवाना किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीकाकरण के लिए बनाए गए स्टालों पर जाकर टीकाकरण के लिए आए व्यक्तियों से कुशल-क्षेम पूछी तथा आई एम वैक्सीनेटेड की स्टाम्प नागरिकों को लगाई। केन्द्र में बने सेल्फी पाइंट पर “मैंने निभाई अपनी जिम्मेदारी-अब है आपकी बारी” के संदेश के साथ नागरिकों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ फोटो भी खिंचवाई।