Bhopal धनतेरस के दिन अमृत कलश और जड़ी-बूटियाँ लेकर प्रकट हुए थे भगवान धनवंतरी : चिकित्सा शिक्षामंत्री विश्वास सारंग

चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग की पहल पर प्रदेश में पहली बार चिकित्सा महाविद्यालयों में हुई भगवान धन्वंतरि की पूजा
भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में की भगवान धन्वंतरि की पूजा

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ भोपाल मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय / 9893909059

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने आज धनतेरस के पावन पर्व पर भोपाल के गाँधी मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य के देवता भगवान धन्वंतरि की विधिवत पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों के उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। मंत्री  विश्वास कैलाश सारंग के आहवान पर मध्यप्रदेश में पहली बार चिकित्सा महाविद्यालयों में धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजन की जा रही है।


मंत्री श्री सारंग ने कहा कि समुद्र मंथन के दौरान धनतेरस के दिन भगवान धन्वंतरि अमृत कलश और जड़ी-बूटियाँ लेकर प्रकट हुए थे। शास्त्रों के अनुसार उनके आशीर्वाद से ही निरोगी काया और स्वास्थ्य का वरदान मिलता है। हमारे चिकित्सा महाविद्यालय भी वह प्रकल्प है जहाँ हम चिकित्सकों का निर्माण कर जनता को निरोगी काया और स्वास्थ्य लाभ देते हैं। इसी मंतव्य के साथ धनतेरस पर प्रदेश के सभी चिकित्सा महाविद्यालयों में स्वस्थ मध्यप्रदेश के निर्माण के लिये भगवान धन्वंतरि की पूजा- अर्चना की गयी है।

हर वर्ष धनतेरस पर चिकित्सा महाविद्यालयों में होगी धन्वंतरि की पूजा

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि धनतेरस के अवसर पर संपूर्ण मध्यप्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों में धन्वंतरि देव पूजा की गयी। इसका एक मात्र उद्देश्य यह है कि चिकित्सक जो पीड़ित मानवता की सेवा के संकल्प के साथ जीते हैं, उन्हें भगवान श्री धन्वंतरि जी का आशीर्वाद प्राप्त हो एवं चिकित्सा महाविद्यालयों से संबद्ध अस्पतालों में स्वास्थ्य लाभ ले रहे मरीजों को निरोगी काया का वरदान मिले।

मंत्री श्री सारंग ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा विभाग की यह पहल अनवरत जारी रहेगी। अब हर वर्ष धनतेरस पर प्रदेश के समस्त चिकित्सा महाविद्यालयों में स्वास्थ्य के देवता भगवान श्री धन्वंतरि का विधिवत पूजन किया जायेगा। आज धनतेरस के शुभ अवसर पर प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में चिकित्सकों, विद्यार्थियों एवं रोगियों के परिजनों ने धन्वंतरि पूजन में शामिल होकर सभी के अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना की। भोपाल में हुए कार्यक्रम में डॉ. अशोक कुमार वार्ष्णेय, राष्ट्रीय संगठन सचिव आरोग्य भारती, डीन गांधी चिकित्सा महाविद्यालय डॉ. अरविंद राय, हमीदिया अस्पताल अधीक्षक डॉ. आशीष गोहिया सहित चिकित्सक एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।