Bhopal हर नागरिक पौधे लगाए, उनकी देखभाल भी करे : मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने करंज और गुलमोहर का पौधा रोपा, पत्रिका समाचार पत्र समूह के स्टेट हैड व लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड होल्डर्स ने भी किया पौध-रोपण
पृथ्वी को बचाने के लिए हम सब मिलकर जुटें
मुख्यमंत्री श्री चौहान अपने जन्म-दिन पर भी लगाएंगे पौधे
अंकुर अभियान में प्रदेश में होगा वृहद स्तर पर पौध-रोपण

स्वास्तिक न्यूज़ पोर्टल @ भोपाल मध्यप्रदेश रमाकांत उपाध्याय / 9893909059

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आमजन से अपील की है कि पृथ्वी को बचाने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना है। हम पौध-रोपण जैसे रचनात्मक कार्यों में जुट जाएँगे, तो पृथ्वी पर हरितिमा का विस्तार होता रहेगा। आज बहुत से नागरिक और स्वैच्छिक संगठन सामर्थ्यपूर्ण जीवन के सार्थक लक्ष्य निर्धारित कर अपनी भूमिका से राष्ट्र और समाजहित में नित नई ऊर्जा से हमारा मार्ग प्रशस्त कर रहे हैं। ऐसा कार्य करने वालों के मार्गदर्शी और प्रेरक जीवन से अन्य लोगों के साथ ही मुझे भी समाजहित में कार्य की प्रेरणा मिली है। मुख्यमंत्री श्री चौहान अपने जन्मदिवस 5 मार्च को भी संकल्प के अनुसार पर्यावरण प्रेमियों के साथ पौध-रोपण करेंगे। राजधानी सहित प्रदेश के नगरों, ग्रामों में अंकुर अभियान में वृहद स्तर पर पौधे लगाए जाएँगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रकृति और पर्यावरण के संरक्षण की दृष्टि से मध्यप्रदेश में पौध-रोपण अभियान निरंतर चल रहा है। गत एक वर्ष से प्रतिदिन एक पौधा रोपने का पुनीत कार्य मैं स्वयं कर रहा हूँ। जीवन-दायिनी माँ नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से लिए गए संकल्प को 19 फरवरी 2022 को एक वर्ष पूर्ण हो गया है। इस एक वर्ष में मैंने 500 से अधिक पौधे रोपे हैं। जीवन के अन्य दैनिक कार्यों और व्यस्तताओं के साथ पौध-रोपण को मैंने अपने कार्य का अभिन्न अंग माना है, जिससे आने वाली पीढ़ियों को हम सुरक्षित और संतुलित जीवन दे सकें।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज पूरी दुनिया ग्लोबल वार्मिंग और क्लाईमेट चेंज के खतरे से जूझ रही है। इस समस्या के निराकरण का केवल एक ही उपाय है कि अधिक से अधिक पौध-रोपण करें। हमारा सौभाग्य है कि प्रकृति के प्रति ऋण उतारने का यह सुअवसर हमें मिल रहा है।

मध्यप्रदेश में जन-भागीदारी से प्रकृति के संरक्षण के कार्य को अभियान का रूप देने के लिए अंकुर अभियान चलाया गया है। समाज को साथ लेकर अब तक गाँव-गाँव, नगर-नगर में लाखों नागरिक पौध-रोपण अभियान का हिस्सा बने हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अनुरोध किया है कि पर्यावरण-संरक्षण के लिए हर नागरिक नैतिक दायित्व लेकर पौध-रोपण कार्य में सहभागी बने और आने वाली पीढ़ियों के लिये प्रेरणास्पद जीवन का मार्ग प्रशस्त करे।

किया पौधरोपण


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट पार्क में करंज और गुलमोहर के पौधे लगाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ पत्रिका समाचार-पत्र समूह के स्टेट एडिटर  विजय चौधरी तथा हॉबी क्लब, भोपाल के सदस्य सुश्री आयुषी श्रीवास्तव,  देवेन्द्र प्रकाश तिवारी तथा सुधीर पंडया ने भी पौध-रोपण किया।

पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्पित हॉबी क्लब के सदस्य स्कूल, कॉलेज एवं सार्वजनिक संस्थानों में छोटी-छोटी प्रदर्शनियाँ लगाकर स्वच्छता और पर्यावरण के लिए बच्चों और आमजन को जागरूक करते हैं। क्लब की सदस्य सुश्री आयुषी श्रीवास्तव ने गणपति संग्रह, देवेंद्र प्रकाश तिवारी ने कबाड़ से जुगाड़ एवं सुधीर पंड्या ने नीम के पेड़ का जन्म-दिन मनाकर और बैंक में विषम संख्या में (ऑड नम्बर में) राशि जमा कराने के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराया है।

आज लगाए गए करंज को आयुर्वेदिक चिकित्सा में महत्वपूर्ण माना गया है। करंज का उपयोग धार्मिक कार्यों में भी किया जाता है। गुलमोहर को विश्व के सुंदरतम वृक्षों में से एक माना जाता है। गुलमोहर की पत्तियों के बीच बड़े-बड़े गुच्छों में खिले फूल, इस वृक्ष को अलग ही आकर्षण प्रदान करते हैं। गर्मी के दिनों में गुलमोहर के पेड़ पत्तियों की जगह फूलों से लदे हुए रहते हैं। यह औषधीय गुणों से भी समृद्ध है।